शुक्रवार, 29 मई, 2015 | 05:41 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    मोदी ने मनमोहन से लिया था एक घंटे इकॉनोमी का ज्ञानः राहुल लोकलुभावन रास्ते की बजाय अधिक कठिन मार्ग चुना :मोदी CBSE 10th रिजल्ट: 94,447 छात्रों को मिला 10 सीजीपीए सोनिया की मौजूदगी में हुई बैठक, पास हुआ मोदी के खिलाफ निंदा प्रस्ताव जेट एयरवेज की टिकटों पर 25 प्रतिशत छूट की पेशकश रायबरेली पहुंची सोनिया गांधी व्यापम घोटाला: अब तक जांच से जुड़े 40 लोगों की मौत त्रिपुरा सरकार ने राज्य में 18 सालों से लगा अफस्पा हटाया गुर्जर आंदोलन: बैंसला बोले, चाहे कुछ हो जाए बिना आरक्षण लिए नहीं लौटेंगे कुछ इस तरह हुई फीफा के 14 अधिकारियों की गिरफ्तारी
शिवसेना के कार्यकर्ताओं से मिलेंगे उद्धव
मुंबई, एजेंसी First Published:02-12-12 03:00 PM
Image Loading

शिव सेना के कार्यकारी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने रविवार को 'मराठी मानुष' और 'हिन्दुत्व' के लिए लड़ने का संकल्प दोहराया। वह जल्द ही पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकता करने के लिए पूरे महाराष्ट्र का दौरा करेंगे।

शिव सेना प्रमुख बाल ठाकरे की मौत के बाद पार्टी के मुखपत्र 'सामना' में दिए अपने पहले साक्षात्कार में उद्धव ने कहा वह अपने पिता का स्थान नहीं ले सकते, उनकी जगह अपूरणीय हैं और वह हमेशा पार्टी के सर्वेसर्वा रहेंगे।

उन्होंने कहा कि शिव पार्क में बाल ठाकरे के स्मारक को लेकर उठा विवाद अनावश्यक था। वह सोमवार से पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलने के लिए राज्य का दौरा करने वाले हैं। ठाकरे की यात्रा पश्चिमी महाराष्ट्र के कोल्हापुर जिले से शुरू होगी, जहां वह पार्टी कार्यकर्ताओं और स्थानीय निकायों और संसद के निर्वाचित प्रतिनिधियों सें मिलेंगे।

नासिक में पांच दिसम्बर को विभिन्न क्षेत्रों के लिए बैठकों का आयोजन किया जाएगा। वहीं सात दिसम्बर को रत्नागिरी, 14 दिसम्बर को नागपुर और 16 दिसम्बर को औरंगाबाद में बैठकों का आयोजन होगा।

ठाकरे प्रदेश के सभी 35 जिलों के कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे। इसके अतिरिक्त वह अपने बेटे आदित्य के नेतृत्व वाली युवा सेना के कार्यकर्ताओं से भी रूबरू होंगे। इन बैठकों में सुभाष देसाई, मनोहर जोशी, लीलाधर डाके, गजानंद कीर्तिकार, रामदास कदम, दिवाकर राओते और संजय राउत जैसे पार्टी के शीर्ष पदाधिकारी भी उपस्थित रहेंगे।

ज्ञात हो कि गत 17 नवम्बर को अपने पिता बाल ठाकरे की मौत के बाद उद्धव पहली बार पार्टी कार्यकताओं से मुलाकात करेंगे।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingमूडी, पोटिंग, फ्लेमिंग या विटोरी हो सकते हैं टीम इंडिया के नए कोच
भारतीय टीम के पूर्व कोच डंकन फ्लेचर का कार्यकाल खत्म हो चुका है और बीसीसीआई अब एक नए कोच की तलाश में जुटी हुई है। टीम इंडिया का कोच बनना एक बड़ी चुनौती होती है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड