शनिवार, 23 अगस्त, 2014 | 09:02 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
 
रिहा होंगे पाकिस्तानी वायरोलॉजिस्ट खलील चिश्ती
नई दिल्ली, एजेंसी
First Published:12-12-12 02:18 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को पाकिस्तानी वायरोलॉजिस्ट (वायरस एवं इससे होने वाली बीमारियों के विशेषज्ञ) मोहम्मद खलील चिश्ती को रिहा करने के आदेश दिए हैं। उन्हें वर्ष 1992 में एक हत्या के सिलसिले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी, जिसे उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी।

न्यायमूर्ति पी सतशिवम और रंजन गोगोई की पीठ ने कहा कि चिश्ती एक साल चार महीने की सजा भुगत चुके हैं और यह काफी है। निर्णय सुनाते हुए न्यायमूर्ति सतशिवम ने कहा कि चिश्ती बिनी किसी प्रतिबंध के अपने देश जाने के लिए स्वतंत्र हैं।

चिश्ती की उम्र और योग्यता को देखते हुए न्यायालय ने सम्बद्ध सरकारी विभाग को उन्हें बिना किसी परेशानी के पाकिस्तान भेजना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। न्यायालय ने अपने पंजीकरण कार्यालय को भी ब्याज सहित पांच लाख रुपये चिश्ती को लौटाने के निर्देश दिए, जो उन्होंने मई, 2012 के आदेश के बाद जमा कराए थे।

सुप्रीम कोर्ट ने 10 मई को चिश्ती को पाकिस्तान के कराची में अपने घर जाने की अनुमति दी थी। उस वक्त उनकी अपील लम्बित थी। इसके बाद वह जल्द ही अजमेर लौट गए थे। सुप्रीम कोर्ट ने नौ अप्रैल को उन्हें जमानत दी थी। करीब 18 वर्ष चले मुकदमे के बाद उन्हें वर्ष 2010 में हत्या का दोषी करार दिया गया था।

चिश्ती को अप्रैल 1992 में अजमेर में सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह पर नमाज के दौरान झगड़े में एक व्यक्ति को जान से मार दिए जाने के लिए आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी।

 

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
टिप्पणियाँ
 

लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें

आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूपसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 05:41 AM
 : 06:55 PM
 : 16 %
अधिकतम
तापमान
43°
.
|
न्यूनतम
तापमान
24°