गुरुवार, 30 अक्टूबर, 2014 | 17:49 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
न्यायालय ने गुमशुदा बच्चों के मामलों में प्राथमिकी दर्ज नहीं करने पर बिहार और छत्तीसगढ़ सरकारों को आड़े हाथ लिया।सरकार 1984 के सिख विरोधी दंगों में मारे गए 3,325 लोगों में से प्रत्येक के नजदीकी परिजन को पांच़-पांच लाख देगीमहाराष्ट्र की नई सरकार में शिवसेना के किसी नेता को शामिल नहीं किया जाएगा: राजीव प्रताप रूडी
राष्ट्र रत्न थे पंडित रविशंकर: मनमोहन
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:12-12-12 12:50 PM
Image Loading

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने प्रसिद्ध सितार वादक पंडित रविशंकर के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि वह राष्ट्र रत्न और भारत की सांस्कृतिक विरासत के वैश्विक दूत थे।

मनमोहन ने अपने संदेश में कहा कि रविशंकर के निधन से एक युग का अंत हो गया है। मैं समूचे राष्ट्र की तरफ से उनकी प्रतिभा, उनकी कला और उनकी विनम्रता को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि रविशंकर एक राष्ट्र रत्न और भारत की सांस्कृतिक विरासत के वैश्विक दूत थे। सितार वादक का स्वास्थ्य पिछले कई साल से खराब चल रहा था और गुरुवार को कैलीफोर्निया स्थित स्क्रिप्स मेमोरियल अस्पताल में उनका ऑपरेशन भी हुआ था। अस्पताल में ही उन्होंने अंतिम सांस ली।

लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने अपने संदेश में कहा कि भारत ने अपना एक असाधारण लाल खो दिया है। रविशंकर 92 साल के थे। पिछले हफ्ते उन्हें सांस लेने में तकलीफ के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सितार वादक को 1999 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

 

 

 
 
 
टिप्पणियाँ