गुरुवार, 03 सितम्बर, 2015 | 10:00 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
अमरोहा: कुमराला गांव के पास सड़क पार कर स्कूल जा रही कक्षा चार की छात्रा को दूसरे स्कूल की बस ने टक्कर मारी। छात्रा की हालत गंभीरउत्तराखंडः रुड़की क्षेत्र में लक्सर के दाबकी गांव में महिलाओं ने देशी शराब के ठेके में आग लगाई
म्यांमार में मिले स्वीडिश हथियार, भारत कर रहा जांच
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:15-12-2012 02:25:17 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

म्यांमार में स्वीडन निर्मित हथियार मिलने के मामले पर भारत गौर कर रहा है। कहा जाता है कि इन हथियारों की खरीद भारतीय सेना ने की थी।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि स्वीडन ने हमारे समक्ष मुद्दा उठाया है। हम मामले को देख रहे हैं, लेकिन हमने म्यांमार में कभी कोई घातक हथियार नहीं भेजा।

इससे पूर्व स्टॉकहोम में स्वीडिश वाणिज्य मंत्री ईवा ब्जोर्लिंग ने कहा कि स्वीडन ने भारत से यह स्पष्ट करने को कहा है कि यूरोपीय संघ के प्रतिबंधों का उल्लंघन कर किस तरह स्वीडन निर्मित हथियार म्यांमार पहुंचे।

उनकी टिप्पणी स्वीडन की निर्यात नियंत्रण एजेंसी के इस बयान के बाद आई है कि वह हथियार पाए जाने के बारे में जांच कर रही है। ब्जोर्लिंग ने गुरुवार को स्वीडन की संसद में कहा था कि स्वीडन की अप्रसार एवं निर्यात नियंत्रण एजेंसी ने उन्हें सूचित किया है कि म्यांमार में पाए गए हथियार भारत से आए थे।

स्वीडिश मीडिया में इस हफ्ते के शुरू में प्रकाशित तस्वीरों में म्यांमार के सैनिकों द्वारा छोड़ी गई टैंक भेदी राइफल कार्ल गुस्ताफ एम3 एवं गोला बारूद दिखाया गया था। यूरोपीय संघ ने 1996 में म्यांमार के खिलाफ हथियार प्रतिबंध लगा दिए थे।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingश्रीलंका में 22 साल बाद भारत ने टेस्ट सीरीज जीती
भारतीय क्रिकेट टीम ने सिंहलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर जारी तीसरे टेस्ट मैच के पांचवें दिन श्रीलंका को 117 रनों से हराया। इस जीत के साथ भारत ने 22 साल बाद टेस्ट सीरीज पर कब्जा कर इतिहास रचा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

मैथ नहीं जानते
टीचर-सोनू, तुम्हारे पापा ने 10 प्रतिशत के सालाना ब्याज पर 5000 रुपए कर्ज लिए। वे एक साल बाद कर्ज वापस करते हैं, बताओ वह कुल कितने पैसे वापस करेंगे?
सोनू-कुछ भी नहीं।
टीचर (गुस्से में)-तुम मैथ नहीं जानते।
सोनू-सर, मैं तो मैथ जानता हूं, पर आप मेरे पिताजी को नहीं जानते