शुक्रवार, 24 अक्टूबर, 2014 | 22:23 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    भूपेंद्र सिंह हुड्डा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें  कालेधन पर राम जेठमलानी ने बढ़ाई सरकार की मुश्किलें जमशेदपुर से लश्कर का आतंकवादी गिरफ्तार  कोई गैर गांधी भी बन सकता है कांग्रेस अध्यक्ष: चिदंबरम भाजपा के साथ सरकार के लिए उद्धव बहुत उत्सुक: अठावले रांची : एंथ्रेक्स ने ली सात लोगों की जान, 8 गंभीर हालत में भर्ती भारत-पाक तनाव के लिये भारत जिम्मेदार : बिलावल भुट्टो अमेरिकी विदेश विभाग में पहली बार मनी दीवाली एनआईए प्रमुख ने बर्दवान विस्फोट की जांच का जायजा लिया आईएस के आतंकवादी अब दुनिया में सबसे धनी : विशेषज्ञ
म्यांमार में मिले स्वीडिश हथियार, भारत कर रहा जांच
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:15-12-12 02:25 PM
Image Loading

म्यांमार में स्वीडन निर्मित हथियार मिलने के मामले पर भारत गौर कर रहा है। कहा जाता है कि इन हथियारों की खरीद भारतीय सेना ने की थी।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि स्वीडन ने हमारे समक्ष मुद्दा उठाया है। हम मामले को देख रहे हैं, लेकिन हमने म्यांमार में कभी कोई घातक हथियार नहीं भेजा।

इससे पूर्व स्टॉकहोम में स्वीडिश वाणिज्य मंत्री ईवा ब्जोर्लिंग ने कहा कि स्वीडन ने भारत से यह स्पष्ट करने को कहा है कि यूरोपीय संघ के प्रतिबंधों का उल्लंघन कर किस तरह स्वीडन निर्मित हथियार म्यांमार पहुंचे।

उनकी टिप्पणी स्वीडन की निर्यात नियंत्रण एजेंसी के इस बयान के बाद आई है कि वह हथियार पाए जाने के बारे में जांच कर रही है। ब्जोर्लिंग ने गुरुवार को स्वीडन की संसद में कहा था कि स्वीडन की अप्रसार एवं निर्यात नियंत्रण एजेंसी ने उन्हें सूचित किया है कि म्यांमार में पाए गए हथियार भारत से आए थे।

स्वीडिश मीडिया में इस हफ्ते के शुरू में प्रकाशित तस्वीरों में म्यांमार के सैनिकों द्वारा छोड़ी गई टैंक भेदी राइफल कार्ल गुस्ताफ एम3 एवं गोला बारूद दिखाया गया था। यूरोपीय संघ ने 1996 में म्यांमार के खिलाफ हथियार प्रतिबंध लगा दिए थे।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ