शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 09:45 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    चीन सीमा पर 54 चौकियां बनाएगा भारत, 175 करोड़ के पैकेज की घोषणा  बर्धवान के बम थे बांग्लादेश के लिए: एनआईए नरेंद्र मोदी की चाय पार्टी में नहीं शामिल होंगे उद्धव ठाकरे भूपेंद्र सिंह हुड्डा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें  कालेधन पर राम जेठमलानी ने बढ़ाई सरकार की मुश्किलें जमशेदपुर से लश्कर का आतंकवादी गिरफ्तार  कोई गैर गांधी भी बन सकता है कांग्रेस अध्यक्ष: चिदंबरम भाजपा के साथ सरकार के लिए उद्धव बहुत उत्सुक: अठावले रांची : एंथ्रेक्स ने ली सात लोगों की जान, 8 गंभीर हालत में भर्ती भारत-पाक तनाव के लिये भारत जिम्मेदार : बिलावल भुट्टो
पालघर में शिव सेना के बंद का व्यापक असर
ठाणे, एजेंसी First Published:28-11-12 03:46 PM
Image Loading

महाराष्ट्र के पालघर और उसके आसपास के इलाके में दो पुलिस अधिकारियों के निलम्बन के विरोध में बुधवार को शिव सेना की ओर से किए गए बंद का व्यापक असर देखा गया। इन दो अधिकारियों ने बाल ठाकरे के निधन पर फेसबुक पर प्रतिक्रिया देने वाली दो लड़कियों को गिरफ्तार किया था।

पालघर की दो लड़कियों शाहीन डाढा और उसकी मित्र रेणु श्रीनिवासन ने ठाकरे के निधन पर 17 नवम्बर और उसके अगले दिन मुम्बई के बंद होने पर सवाल उठाया था। सवाल उठाए जाने पर इन्हें दो पुलिसकर्मियों ने गिरफ्तार कर लिया था और फिर इन अधिकारियों को निलम्बन का सामना करना पड़ा।

स्थानीय निवासी जीआर पाटिल के मुताबिक इस बंद की वजह से दो लाख जनसंख्या वाले इस शहर के सार्वजनिक वाहन, व्यापार और व्यवसाय पर खासा असर पड़ा है। इन दोनों लड़कियों के फेसबुक पर प्रतिक्रिया जाहिर करने के बाद शिवसेना कार्यकर्ताओं ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था साथ ही शाहीन के चाचा के अस्पताल में तोड़-फोड़ की थी।

इस घटना पर देश भर में फैले आक्रोश के बाद महाराष्ट्र के गृहमंत्री आरआर पाटिल ने मामले की जांच के आदेश दे दिए थे जिसके परिणामस्वरुप इन दो पुलिसकर्मियों को निलम्बित किया गया था।

पाटिल ने पत्रकारों से कहा कि कोंकण इलाके के पुलिस महानिरीक्षक सुखविंदर सिंह द्वारा रिपोर्ट प्रस्तुत करने के बाद ठाणे के पुलिस अधिक्षक रविंद्र सेंगाओंकार को निलम्बित कर दिया गया और विभागीय जांच शुरू कर दी गई।

उन्होंने कहा कि इसी तरह, पालघर के पुलिस प्रमुख वरिष्ठ निरीक्षक श्रीकांत पिंगले को भी निलम्बित कर विभागीय जांच के आदेश दे दिए गए। जांच-पड़ताल में किसी भी तरह के पक्षपात से बचने के लिए इस मामले को पालघर से 15 किलोमीटर दूर ठाणे जिले में स्थित बाइसार पुलिस थाने में स्थानांतरित कर दिया गया है।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ