शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 11:03 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    अमेरिकी स्कूल में गोलीबारी में दो की मौत, चार घायल पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन हुदहुद से आई टी क्षेत्र को भारी क्षति हुई है :रेड्डी  मिस्र में आतंकी हमले में 31 सैनिकों की मौत गूगल के अधिकारी ने हवा में गोताखोरी का बनाया विश्व रिकॉर्ड  चीन सीमा पर 54 चौकियां बनाएगा भारत, 175 करोड़ के पैकेज की घोषणा  बर्धवान के बम थे बांग्लादेश के लिए: एनआईए नरेंद्र मोदी की चाय पार्टी में नहीं शामिल होंगे उद्धव ठाकरे भूपेंद्र सिंह हुड्डा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें  कालेधन पर राम जेठमलानी ने बढ़ाई सरकार की मुश्किलें
कुडुनकुलम परियोजना के अधिकारी को मिली धमकी
तिरुनेलवेली (तमिलनाडु), एजेंसी First Published:05-01-13 03:12 PM

विवादित कुडुनकुलम परमाणु संयंत्र के इसी महीने चालू होने की उम्मीदों के बीच साइट के निदेशक को मिले धमकी भरे अज्ञात पत्र से प्रशासन और पुलिस में हड़कंप मच गया है।
   
पुलिस ने बताया कि यह पत्र कल शाम मिला। इसमें निदेशक आर एस सुंदर से कहा गया है कि यदि वह इस संयंत्र को चालू करने की योजना पर आगे बढ़ते हैं तो उन्हें निशाना बनाया जाएगा।
   
उन्होंने बताया कि तमिल भाषा में लिखे इस पत्र पर कुडुनकुलम मक्कल ननबान (कुडुनकुलम के लोगों का मित्र) नाम से हस्ताक्षर है और इसे चेन्नई के अन्ना सलाई से पोस्ट किया गया था।
   
पत्र मिलने के एक दिन बाद परमाणु उर्जा आयोग के अध्यक्ष रतन कुमार सिन्हा ने कहा कि त्रिस्तरीय सुरक्षा की व्यवस्था सिर्फ संयंत्र के लिए है, इसके अधिकारियों के लिए नहीं। उन्होंने कहा कि इस भारतीय-रूसी परियोजना की पहली 1000 मेगावाट इकाई दो सप्ताह में चालू हो जाएगी। इस संयंत्र के चालू होने की समय सीमा कई बार आगे बढ़ाई गयी है।
   
इस पत्र के आधार पर तिरनेलवेली के पुलिस अधीक्षक विजयेंद्र एस बिदरी के समक्ष मामला दर्ज कराया गया जिसके आधार पर उन्होंने पुलिस को मामला दर्ज करने और जांच का आदेश दिया।
   
इस बीच तटरक्षक बल और राज्य समुद्री पुलिस ने संयुक्त रूप से आज कुडुनकुलम तट पर सुरक्षा अभ्यास किया। स्थानीय लोगों और मछुआरों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए केएनपीपी (कुडुनकुलम परमाणु संयंत्र) में पहले से ही कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। प्रदर्शनकारियों ने कई बार इस परमाणु संयंत्र की घेराबंदी का भी प्रयास किया था।
 
 
 
टिप्पणियाँ