शनिवार, 04 जुलाई, 2015 | 03:31 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    फिल्म देखने से पहले पढ़ें 'गुड्डू रंगीला' का रिव्यू फिल्म रिव्यू: टर्मिनेटर जेनेसिस पूर्व रॉ प्रमुख के खुलासे के बाद सरकार पर हमलावर हुई कांग्रेस, PM से की माफी की मांग झारखंड: मेदिनीनगर के हुसैनाबाद में ओझा-गुणी की हत्या हजारीबाग के पदमा में दो गुटों में भिड़ंत, आधा दर्जन घायल गुमला में बाइक के साथ नदी में गिरा सरकारी कर्मी, मौत हेमा मालिनी के ड्राइवर को कुछ ही घंटों में मिली जमानत, बच्ची की मौत से हेमा दुखी झारखंड के चाईबासा में रिश्वत लेते दारोगा रंगे हाथ गिरफ्तार झारखंड: हजारीबाग में पिता ने अबोध बेटी को पटक कर मार डाला जमशेदपुर में स्कूल वाहन चालक हड़ताल पर, अभिभावक परेशान
इतालवी मरींस स्वदेश रवाना
कोच्चि, एजेंसी First Published:22-12-12 11:37 AM
Image Loading

दो भारतीय मछुआरों को गोली मारने के मामले में दस महीने पहले गिरफ्तार किए गए दो इतालवी मरींस शनिवार को एक चार्टर्ड उड़ान से क्रिसमस मनाने के लिए स्वदेश रवाना हो गए, लेकिन अदालत के आदेशों के अनुसार उन्हें दो सप्ताह के भीतर लौटना होगा।

मरींस तड़के पांच बजे विमान में सवार हुए। कोच्चि हवाईअड्डा प्रशासन ने यह जानकारी दी। मासिमिलियानो लातोरे तथा साल्वातोर गिरोने ने कोल्लम अतिरिक्त जिला सत्र अदालत से कल अपने अपने पासपोर्ट हासिल किए। इससे पूर्व उन्होंने एक संयुक्त हलफनामा दाखिल किया था जिसमें बिना शर्त दस जनवरी तक केरल वापस लौट आने तथा 15 जनवरी को कोल्लम में सुनवाई अदालत में पेश होने पर सहमति जतायी थी।

इतालवी मरींस ने केरल उच्च न्यायालय के गुरुवार के दिशा-निर्देशों के अनुसार छह करोड़ रुपये की बैंक गारंटी भी जमा करायी है जिसके बाद उन्हें दो सप्ताह के लिए स्वदेश जाने की अनुमति दी गयी।

इन दोनों मरींस को 15 फरवरी को अलपुक्षा तट पर दो भारतीय मछुआरों अजेश बिन्की (25) तथा जेलेस्टीन (45) को गोली मारे जाने के मामले में 19 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था। ये दोनों मर्चेन्ट पोत एनरिका लेक्सी पर सवार थे। दोनों भारतीय मछुआरे इस घटना में मारे गए थे।

इतालवी रक्षा मंत्री गिम्पालो डी पाउलो इन दोनों मरींस से मुलाकात करने के लिए पिछले सप्ताहांत में यहां आए थे।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड