सोमवार, 03 अगस्त, 2015 | 20:39 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
देश के 187 बंदरगाहों में सुरक्षा की गंभीर खामी।आईआईटी रुड़कीः सीनेट की बैठक के बाद देर शाम को सचिव ने की घोषणा।आईआईटी रुड़की निकाले गए 72 छात्रों को वापस लेगी।
रंजीत सिन्हा ने सीबीआई निदेशक का पदभार संभाला
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:03-12-2012 03:48:58 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी रंजीत सिन्हा ने सोमवार को नए सीबीआई निदेशक का पदभार संभाल लिया। उन्होंने कहा कि वह अनुरोध पत्र के क्रियान्वयन में होने वाले विलंब को दूर करने और एजेंसी की फोरेंसिक क्षमताओं में सुधार लाने पर जोर देंगे।
    
सिन्हा 1974 के बिहार काडर के अधिकारी है और वह भारत तिब्बत सीमा पुलिस के महानिदेशक का कार्यभार भी फिलहाल संभाल रहे हैं। वह एपी सिंह की जगह सीबीआई प्रमुख बने हैं जो 30 नवंबर को सेवानिवृत्त हुए थे।
    
उनसठ वर्षीय सिन्हा सीबीआई प्रमुख का पद दो साल संभालेंगे। इससे पूर्व भी वह उप महानिरीक्षक एवं संयुक्त निदेशक के तौर पर सीबीआई में काम कर चुके हैं। पदभार संभालने के बाद मीडिया से बातचीत में सिन्हा ने कहा कि वह कर्मचारियों की कमी, अनुरोध पत्र के क्रियान्वयन में विलंब और फारेंसिक क्षेत्र में सुधार की जरूरत जैसी एजेंसी की कमियों से अवगत है तथा वह अपने कार्यकाल में उन्हें दूर करने का प्रयास करेंगे।
    
इस पद अपनी नियुक्ति को लेकर किसी तरह के विवाद की बात को खारिज करते हुए उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि कोई विवाद है। मेरा मानना है कि सरकार ने कोई निर्णय किया और उसी निर्णय की वजह से मैं यहां हूं।
    
उनकी नियुक्ति के खिलाफ दायर याचिकाओं के बारे में पूछने पर सीबीआई प्रमुख ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि आईपीएस अधिकारियों के बीच कोई नाराजगी है। मुझे नहीं मालूम किसने मेरे खिलाफ याचिका दायर की है। यह (नियुक्ति) सरकार का विशेषाधिकार है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingश्रीलंका में जीत के लिए ये है कोहली का मास्टर प्लान
टेस्ट कप्तान के तौर पर अपनी पहली संपूर्ण तीन मैचों की सीरीज के लिये श्रीलंका दौरे पर भारतीय टीम का नेतृत्व कर रहे विराट कोहली ने कहा है कि उनकी योजना श्रीलंका में पांच गेंदबाजों को उतारने की रहेगी।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब बीमार पड़ा संता...
जीतो बीमार पति से: जानवर के डॉक्टर को मिलो तब आराम मिलेगा!
संता: वो क्यों?
जीतो: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो, गधे की तरह दिनभर काम करते हो, घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भोंकते हो, और रात को खाकर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर आपका क्या इलाज करेगा?