गुरुवार, 30 जुलाई, 2015 | 21:41 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    2022 तक आबादी में चीन को पीछे छोड़ देगा भारत  झारखंड में दिसंबर तक होगी 40 हजार शिक्षकों की नियुक्तियां महिन्द्रा सितंबर में पेश करेगी एसयूवी टीयूवी-300  नेपाल: भारी बारिश के बाद भूस्खलन, 13 महिलाओं समेत 25 की मौत, कई लापता पेट्रोल-डीजल के दामों में हो सकती है कटौती, 1 रुपये 50 पैसे तक घट सकते हैं दाम नागपुर की सेंट्रल जेल में 1984 के बाद पहली बार दी गई फांसी पढ़ें 1993 में हुए सीरियल बम ब्लास्ट से अब तक का घटनाक्रम निर्दोषों को आतंकी कहा जा रहा है, मैं धमाकों का जिम्मेदार नहीं: याकूब याकूब मेमन को फांसी के बाद मुंबई में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई पुंछ: LoC पर पाकिस्तान ने फिर तोड़ा सीजफायर, एक जवान शहीद
कमलनाथ ने कहा, झूठे हैं विपक्ष के दावे
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:02-12-2012 11:26:09 AMLast Updated:02-12-2012 02:24:41 PM
Image Loading

संसदीय कार्य मंत्री कमलनाथ ने विपक्ष के दावे को झूठा बताते हुए कहा है कि खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) से संबंधित विदेशी विनिमय प्रबंधन अधिनियम (फेमा) अधिसूचना को संसद के केवल एक ही सदन की मंजूरी की जरूरत है।

विपक्ष का कहना है कि राज्यसभा से मंजूरी नहीं मिलने पर फैसला लागू नहीं किया जा सकता, जहां संप्रग के पास बहुमत नहीं है। कमलनाथ ने कहा कि एक सदन से पारित होने पर यह पारित हो जाएगा। इसे दोनों सदनों से पारित कराने की आवश्यकता नहीं है। यही नियमों में निहित है।

माकपा नेता सीताराम येचुरी ने कहा था कि बहु ब्रांड खुदरा क्षेत्र में 51 प्रतिशत एफडीआई को मंजूरी दिए जाने संबंधी फेमा अधिसूचना को संसद के दोनों सदनों से पारित कराया जाना जरूरी है।

कमलनाथ विपक्ष के इस तर्क से सहमत नजर नहीं आए। उन्होंने कहा कि किसी भी चीज को अदालत ले जाया जा सकता है। यदि ऐसा होता है तो हम इससे निपटेंगे। मंत्री ने जोर देकर कहा कि लोकसभा और राज्यसभा के लिए नियम अलग-अलग हैं।

कमलनाथ ने हालांकि, स्वीकार किया कि फेमा अधिसूचना अगले सत्र तक खिंच सकती है जो तीन महीने बाद है। इसे बजट सत्र में पारित किया जा सकता है और सरकार के पास इसे मंजूर कराने के लिए संसद के 30 कार्य दिवस हैं।

उन्होंने कहा कि उन्हें एफडीआई के मुद्दे पर सपा और बसपा से कोई आश्वासन नहीं मिला है जिस पर इस हफ्ते दोनों सदनों में चर्चा और मतदान होगा। हालांकि, उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि वे (सपा-बसपा) संप्रग का समर्थन करेंगे।

 

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingपे टीएम ने बीसीसीआई से 2019 तक प्रायोजन अधिकार खरीदे
पे टीएम के मालिक वन97 कम्युनिकेशंस ने आज भारत में अगले चार साल तक होने वाले घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों के अधिकार 203.28 करोड़ रूप में खरीद लिए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड