रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 02:38 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
चिदंबरम की बैंककर्मियों से हड़ताल पर न जाने की अपील
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:21-12-12 10:24 AM
Image Loading

वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने बैंकिंग विधि संशोधन विधेयक 2012 का विरोध कर रहे बैंककर्मियों से हड़ताल नहीं करने और बातचीत के लिए आगे आने की अपील की है।

चिदंबरम ने राज्यसभा में बैंकिंग विधि संशोधन विधेयक 2012 और प्रतिभूति हित का प्रवर्तन और ऋण वसूली विधि संशोधन विधेयक 2012 को पारित किए जाने से पहले हुई चर्चा का जवाब देने के दौरान यह अपील की।

उन्होंने कहा कि आज कुछ बैंककर्मी हड़ताल पर थे, लेकिन उससे बैंकिंग सेवाओं पर कोई असर नहीं पड़ा है। पूर्वी और पूर्वोत्तर भारत में कुछ असर पड़ा है। कुल मिलाकर 46 प्रतिशत बैंककर्मी हड़ताल में शामिल हुए हैं।

उन्होंने कहा कि बैंककर्मी भारतीय बैंक संघ (आईबीए), भारतीय रिजर्व बैंक और सरकार से बात कर सकते हैं। कर्मचारियों को हड़ताल पर नहीं जाना चाहिए। हालांकि उन्होंने कहा कि बैंकिंग क्षेत्र में हड़ताल का प्रचलन कम हुआ है।

बैंकिंग क्षेत्र में सुधार के लिए बैकिंग कानून संशोधन विधेयक को संसद द्वारा पारित किए जाने के विरोध में चार बैंक कर्मचारी संघों की हड़ताल के चलते देश के कई हिस्सों में कामकाज पर बुरी तरह प्रभावित रहा।

अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (एआईबीईए) के महासचिव जीएस वेंकटचलम ने हड़ताल को पूरी तरह सफल बताया। उन्होंने कहा कि चार बैंक यूनियनों के करीब पांच लाख कर्मचारी हड़ताल में शामिल हुए जिसके चलते देश के कई हिस्सों में बैकिंग क्षेत्र के कामकाज पर खासा असर देखा गया।

तीन लाख कर्मचारियों वाले भारतीय स्टेट बैंक समूह की यूनियन ने हड़ताल में हिस्सा तो नहीं लिया, लेकिन हड़ताल में शामिल कर्मचारियों का समर्थन किया। बैंक की शाखाओं में रोजमर्रा की तरह कामकाज हुआ।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ