बुधवार, 22 अक्टूबर, 2014 | 19:22 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
सरकार को जीत का भरोसा, विपक्ष में मतदान करेगी सपा
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:06-12-12 02:01 PMLast Updated:06-12-12 03:33 PM

बहु ब्रांड खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) पर लोकसभा में जीत के बाद केंद्र सरकार को इस मुद्दे पर राज्यसभा में भी जीत का भरोसा है। केंद्र सरकार के कई मंत्रियों ने गुरुवार को यह भरोसा जताया। राज्यसभा के आंकड़े हालांकि विपक्ष के पाले में दिखते हैं।

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री कमलनाथ ने संसद के बाहर संवाददाताओं से कहा कि हम लोकसभा में जीते। हमें राज्यसभा में भी संख्याबल अपने पक्ष में होने का भरोसा है। हम जीतेंगे।

केंद्रीय गृह मंत्री पी. चिदम्बरम ने भी इसी तरह के विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि राज्यसभा में बहस होगी और सरकार को मतदान में जीत का भरोसा है।

राज्यसभा के आंकड़े हालांकि कुछ और कहते हैं। 244 सदस्यीय सदन में सरकार को जीत के लिए 123 सदस्यों की आवश्यकता है। लेकिन कांग्रेस तथा इसकी समर्थक पार्टियों का संख्या बल 89 ही है। कुछ अन्य छोटी पार्टियों के सहयोग से यह आंकड़ा 96 तक पहुंचता है।

वहीं, विपक्षी दल भाजपा, शिवसेना, शिरोमणि अकाली दल के पास 65 सीटें हैं। वामपंथियों के 14 और तृणमूल कांग्रेस के नौ सदस्य हैं। कुछ अन्य दलों को मिलाकर विपक्ष का संख्या बल 107 पहुंच जाता है।

बहु ब्रांड खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) को लेकर राज्यसभा में मतदान से पहले समाजवादी पार्टी (सपा) ने गुरुवार को कहा कि वह मतदान में सरकार का समर्थन नहीं करेगी। सपा नेता नरेश अग्रवाल ने कहा कि सपा निश्चित तौर पर राज्यसभा में एफडीआई के मुद्दे पर सरकार के पक्ष में मतदान नहीं करेगी।

सपा और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) बुधवार को लोकसभा में इस मुद्दे पर मतदान के दौरान सदन से बहिर्गमन कर गई थी, जिससे सदन में जीत का आंकड़ा कम हो गया था और एफडीआई के विरोध में विपक्ष का प्रस्ताव पराजित हो गया था।
 
 
 
टिप्पणियाँ