रविवार, 30 अगस्त, 2015 | 11:21 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
भूमि बिल पर हर सुझाव को स्वीकार करने के लिए सरकार तैयार: प्रधानमंत्रीकिसानों के हित के किसी भी सुझाव को मैं स्वीकार करूंगा: मोदीइस्लाम के सही स्वरूप को लोगों तक पहुंचाना जरूरी: पीएमविकास से जुड़ी हर समस्या का समाधान होगा: प्रधानमंत्रीगुजरात की स्थिति संभालने में हम सफल रहे: मोदीबैंक मित्र की योजना को भी बल मिला और इससे नौजवानों को रोजगार मिला: पीएमसभी माताओं और बहनों का रक्षाबंधन की बहुत बहुत शुभकामनाएं: प्रधानमंत्री11 करोड़ लोग बीमा योजना से जुड़े, आधा लाभा माताओं और बहनों को मिला: मोदी
राज्यसभा में एफडीआई पर चर्चा, सरकार पर जमकर बरसी AIADMK
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:06-12-2012 03:38:12 PMLast Updated:06-12-2012 05:47:28 PM

बहुब्रांड खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) पर गुरुवार को राज्यसभा में चर्चा के दौरान ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) केंद्र सरकार पर जमकर बरसी। उसने सरकार पर इस मुद्दे को लेकर झूठ बोलने का आरोप लगाया।

एआईएडीएमके नेता वी. मैत्रेयन ने कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली केंद्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार झूठ बोल रही है कि खुदरा क्षेत्र में एफडीआई से किसानों तथा छोटे उत्पादकों को मदद मिलेगी और बहुत सी नौकरियों का सृजन होगा।

खुदरा क्षेत्र में एफडीआई के खिलाफ राज्यसभा में प्रस्ताव लाने वाले मैत्रेयन ने कहा कि प्रधानमंत्री ने स्वयं एफडीआई का विरोध किया था, जब वह विपक्ष में थे। संप्रग सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी इसके खिलाफ थीं।

सभी दलों से इस मुद्दे पर सरकार को हाराने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार संख्या बल जुटा सकती है, लेकिन मैं सभी दलों से मतदान करने और देश को बचाने की अपील करता हूं।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingLIVE:श्रीलंका को दूसरा झटका, सिल्वा आउट
श्रीलंका क्रिकेट टीम ने सिंहलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर भारत के साथ जारी तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन रविवार को अपनी पहली पारी में दो विकेट गंवा दिए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब संता के घर आए डाकू...
आधी रात को संता के घर डाकू आए।
संता को जगाकर पूछा: यह बताओ कि सोना कहां है?
संता (गुस्से से): इतना बड़ा घर है कहीं भी सो जाओ। इतनी छोटी बात के लिए मुझे क्यों जगाया!