रविवार, 30 अगस्त, 2015 | 09:04 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
उत्तर प्रदेश: अमरोहा में गजरौला के मोहल्ला अंबेडकर नगर में शनिवार देर रात को नशे की हालत में बुजुर्ग घर के सामने कुआं में गिरा, मौत से परिवार में कोहराम।
पीड़ित लड़की अब भी वेंटीलेटर पर, हालत बेहतर
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:25-12-2012 08:11:11 PMLast Updated:25-12-2012 09:45:13 PM
Image Loading

दिल्ली में चलती हुई बस में बर्बर गैंगरेप की शिकार बनी 23 वर्षीय लड़की की हालत सोमवार के मुकाबले मंगलवार को बेहतर है, लेकिन वह अब भी जीवनरक्षक प्रणाली (वेंटीलेटर) पर है। यह जानकारी डॉक्टरों ने दी।

पीड़िता के स्वास्थ्य पर लगातार नजर रख रहे सफदरजंग अस्पताल के डाक्टरों ने कहा कि उसके प्लेटलेट्स और कुल ल्यूकोसाइट्स की संख्या में कल के मुकाबले सुधार हुआ है और अब वह बातचीत करने के लिए शारीरिक रूप से फिट है।

डॉक्टर सुनील जैन ने कहा कि उसका लीवर कमोबेश सही तरह काम कर रहा है और प्रयोगशाला में हुई जांचें भी कमोबेश सही आई हैं। उसके प्लेटलेट्स और कुल ल्यूकोसाइट्स में सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि हालांकि, यह सुधार काफी रक्त एवं प्लेटलेट्स चढ़ाए जाने के बाद हुआ है।

गहन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) के प्रभारी डॉ. पीके वर्मा ने कहा कि लड़की की हालत कल के मुकाबले बेहतर है, लेकिन वह अब भी वेंटीलेटर पर है। उन्होंने कहा कि वह अब भी वेंटीलेटर पर है, लेकिन वेंटीलेटर पर निर्भरता घटा दी गई है।

कल आंतरिक रक्तस्राव के लक्षणों के चलते उसकी हालत बिगड़ गई थी। डॉक्टरों ने तब उसकी हालत को अत्यंत नाजुक करार दिया था।

मनोचिकित्सक आर रस्तोगी ने कहा कि युवती मानसिक स्तर पर स्थिर है, और उसकी लड़ने की भावना अभी भी बरकरार है। वह अच्छे भविष्य को लेकर आशावान है और उसे भावनात्मक शक्ति की जरूरत है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingगावस्कर ने पुजारा की तारीफों के पुल बांधे
अपनी अच्छी तकनीक और शांत चित के कारण चेतेश्वर पुजारा क्रीज पर अपने पांव जमाने में माहिर हैं और पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने भी इस युवा बल्लेबाज की आज जमकर तारीफ की जिन्होंने अपने नाबाद शतक से भारत को संकट से उबारा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब संता के घर आए डाकू...
आधी रात को संता के घर डाकू आए।
संता को जगाकर पूछा: यह बताओ कि सोना कहां है?
संता (गुस्से से): इतना बड़ा घर है कहीं भी सो जाओ। इतनी छोटी बात के लिए मुझे क्यों जगाया!