शुक्रवार, 29 मई, 2015 | 03:39 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    मोदी ने मनमोहन से लिया था एक घंटे इकॉनोमी का ज्ञानः राहुल लोकलुभावन रास्ते की बजाय अधिक कठिन मार्ग चुना :मोदी CBSE 10th रिजल्ट: 94,447 छात्रों को मिला 10 सीजीपीए सोनिया की मौजूदगी में हुई बैठक, पास हुआ मोदी के खिलाफ निंदा प्रस्ताव जेट एयरवेज की टिकटों पर 25 प्रतिशत छूट की पेशकश रायबरेली पहुंची सोनिया गांधी व्यापम घोटाला: अब तक जांच से जुड़े 40 लोगों की मौत त्रिपुरा सरकार ने राज्य में 18 सालों से लगा अफस्पा हटाया गुर्जर आंदोलन: बैंसला बोले, चाहे कुछ हो जाए बिना आरक्षण लिए नहीं लौटेंगे कुछ इस तरह हुई फीफा के 14 अधिकारियों की गिरफ्तारी
पीड़ित लड़की अब भी वेंटीलेटर पर, हालत बेहतर
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:25-12-12 08:11 PMLast Updated:25-12-12 09:45 PM
Image Loading

दिल्ली में चलती हुई बस में बर्बर गैंगरेप की शिकार बनी 23 वर्षीय लड़की की हालत सोमवार के मुकाबले मंगलवार को बेहतर है, लेकिन वह अब भी जीवनरक्षक प्रणाली (वेंटीलेटर) पर है। यह जानकारी डॉक्टरों ने दी।

पीड़िता के स्वास्थ्य पर लगातार नजर रख रहे सफदरजंग अस्पताल के डाक्टरों ने कहा कि उसके प्लेटलेट्स और कुल ल्यूकोसाइट्स की संख्या में कल के मुकाबले सुधार हुआ है और अब वह बातचीत करने के लिए शारीरिक रूप से फिट है।

डॉक्टर सुनील जैन ने कहा कि उसका लीवर कमोबेश सही तरह काम कर रहा है और प्रयोगशाला में हुई जांचें भी कमोबेश सही आई हैं। उसके प्लेटलेट्स और कुल ल्यूकोसाइट्स में सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि हालांकि, यह सुधार काफी रक्त एवं प्लेटलेट्स चढ़ाए जाने के बाद हुआ है।

गहन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) के प्रभारी डॉ. पीके वर्मा ने कहा कि लड़की की हालत कल के मुकाबले बेहतर है, लेकिन वह अब भी वेंटीलेटर पर है। उन्होंने कहा कि वह अब भी वेंटीलेटर पर है, लेकिन वेंटीलेटर पर निर्भरता घटा दी गई है।

कल आंतरिक रक्तस्राव के लक्षणों के चलते उसकी हालत बिगड़ गई थी। डॉक्टरों ने तब उसकी हालत को अत्यंत नाजुक करार दिया था।

मनोचिकित्सक आर रस्तोगी ने कहा कि युवती मानसिक स्तर पर स्थिर है, और उसकी लड़ने की भावना अभी भी बरकरार है। वह अच्छे भविष्य को लेकर आशावान है और उसे भावनात्मक शक्ति की जरूरत है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingमूडी, पोटिंग, फ्लेमिंग या विटोरी हो सकते हैं टीम इंडिया के नए कोच
भारतीय टीम के पूर्व कोच डंकन फ्लेचर का कार्यकाल खत्म हो चुका है और बीसीसीआई अब एक नए कोच की तलाश में जुटी हुई है। टीम इंडिया का कोच बनना एक बड़ी चुनौती होती है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड