गुरुवार, 30 अक्टूबर, 2014 | 17:47 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
न्यायालय ने गुमशुदा बच्चों के मामलों में प्राथमिकी दर्ज नहीं करने पर बिहार और छत्तीसगढ़ सरकारों को आड़े हाथ लिया।सरकार 1984 के सिख विरोधी दंगों में मारे गए 3,325 लोगों में से प्रत्येक के नजदीकी परिजन को पांच़-पांच लाख देगीमहाराष्ट्र की नई सरकार में शिवसेना के किसी नेता को शामिल नहीं किया जाएगा: राजीव प्रताप रूडी
पुलिस का टूटा कहर, इंडिया गेट पर भड़की हिंसा
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:23-12-12 05:11 PMLast Updated:23-12-12 06:48 PM
Image Loading

राजधानी के इंडिया गेट पर प्रदर्शनकारियों के पथराव और लोहे की छड़ें लेकर सुरक्षाकर्मियों से भिड़ जाने तथा पुलिसकर्मियों द्वारा उन पर आंसू गैस के गोले दागने एवं पानी की धार फेंकने के बाद हिंसा भड़क गई।

ऐसी खबरे हैं कि कुछ तत्व हिंसा फैला रहे हैं। महज डेढ़ घंटे के अंदर दूसरी बार दोपहर करीब ढ़ाई बजे दोनों पक्षों में झड़प हुई। फिलहाल यह पता नहीं चल पाया है कि हिंसा क्यों भड़की। पुलिस ने रायसीना हिल जाने वाले राजपथ पर अवरोधक लगा रखे थे।

अपराह्न करीब सवा तीन बजे जब प्रदर्शनकारी पथराव करने लगे तब पुलिस ने उन पर आंसू गैस के गोले दागे एवं पानी की बौछार की। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कुछ प्रदर्शनकारियों ने लोहे की छड़ लेकर हमला भी किया। हालांकि ज्यादातर प्रदर्शनकारियों ने शांति बनाए रखी और उन्होंने प्रदर्शन के दौरान हिंसा पर ऐतराज जताया। उन्होंने आरोप लगाया कि हिंसा करने वालों की अपनी कुछ और ही मंशा है।

पुलिस ने युद्ध स्मारक के समीप राजपथ पर भीड़ को तितर-बितर करने के लिए कई बार आंसू गैस के गोले दागे और बल प्रयोग किया। पुलिस की इस कार्रवाई में कुछ मीडियाकर्मियों समेत कई लोग घायल हो गए।

 
 
 
टिप्पणियाँ