शुक्रवार, 04 सितम्बर, 2015 | 11:20 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
चरित्र सार्टिफिकेट की जगह एप्टीट्यूड सार्टिफिकेट दिया जाए, छोटा काम करके भी बड़ी उपलब्धि हासिल की जा सकती है, कविता लिखने का शौका है तो लिखिए, पेटिंग बनाने का शौक है तो बनाते जाइये- पीएमपीएम ने माना कि हमारे देश में 18 हजार गांव ऐसे हैं जहां बिजली नहीं है। एक हजार दिनों में 18 हजार गांवों में बिजली पहुंचानी है।पीएम ने सार्थक भारद्वाज से पूछा कहां से हुआ खाना बनाने का शौक ? पूछा क्या बनना चाहते हो ? सार्थक ने कहा वे शेफ बनना चाहेंगे।2020 तक सभी घरों में चौबीसों घंटे बिजली होनी चाहिए- पीएमगोआ की छात्रा सोनिया ने पीएम से पूछा कि आपको कौन सा खेल पसंद है ?कला उत्सव वेबसाइट लांच, स्कूलों में कला की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए लांच की गई है वेबसाइटदेश के पहले राष्ट्रपति डां. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की स्मृति में 10 रुपये का सिक्का जारीमुंबई: आरबीआई बिल्डिंग में लगी आग
गैंगरेप के खिलाफ दिल्ली की सड़कों पर उतरे लोग
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:21-12-2012 02:38:43 PMLast Updated:21-12-2012 05:29:50 PM
Image Loading

चलती बस में लड़की के साथ गैंगरेप करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग को लेकर शुक्रवार को बड़ी संख्या में महिला कार्यकर्ताओं और छात्र-छात्राओं ने राष्ट्रपति भवन की तरफ मार्च किया।

एआईडीडब्लूए, वाईडब्लूसीए और जेएनयूएसयू के नेतृत्व में इन छात्र-छात्राओं और महिला कार्यकर्ताओं ने राजपथ से अपना मार्च शुरू किया और विजय चौक पहुंचे। इसके बाद उन्होंने रायसीना हिल्स का रुख किया जहां प्रवेश द्वार पर लगे अवरोधक को पार कर वे राष्ट्रपति भवन तथा साउथ और नॉर्थ ब्लॉक की ओर बढ़ने लगे।

पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को राष्ट्रपति भवन के पास रोक दिया। तख्तियों के साथ नारेबाजी कर रहे प्रदर्शनकारी बलात्कारियों के खिलाफ कड़ी सजा की मांग कर रहे थे। दो दिन पहले ही इसी तरह के एक प्रदर्शन में करीब 200 लोग नॉर्थ ब्लॉक के पास इकट्ठा हुए थे। गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे के जेएनयूएसयू के प्रतिनिधियों से मुलाकात के आश्वासन के बाद ही वे वहां से गए।

स्वाति नाम की एक लड़की राष्ट्रपति भवन के समीप जाने में सफल रही, लेकिन बाद में उसे पकड़ लिया गया। उसने बताया कि उन्होंने हमें कहा कि हमें अंदर जाने के लिए पहले इजाजत लेनी होगी, लेकिन हम इजाजत क्यों लें जब हम पर हमला किया जाता है हमें परेशान किया जाता है, तब कोई भी इजाजत लेना जरूरी नहीं समझता। हम यहां अपनी आवाज उठाने आए हैं और इसके लिए क्या हमें इजाजत की आवश्यतकता है।

रायसीना हिल्स के बाद प्रदर्शनकारियों ने बाद में इंडिया गेट की तरफ मार्च किया। कुछ लोगों के समूह ने सफदरजंग अस्पताल के बाहर प्रदर्शन किया और कुछ देर के लिए यातायात बाधित किया। प्रदर्शनकारी पीड़ित को त्वरित न्याय दिलाने की मांग कर रहे थे।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingसईद अजमल ने संन्यास से किया इंकार
संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन के कारण विवादों में घिरे पाकिस्तान के ऑफ स्पिनर सईद अजमल ने संन्यास लेने की अटकलों को खारिज करते हुए खुद को सीमित ओवरों के मुकाबले के लिए उपयुक्त गेंदबाज बताया है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

जब संता गया बैंक लूटने...
संता बैंक में डकैती डालने पहुंचा मगर रिवॉलवर घर पर ही भूल गया...
मगर बैंक फिर भी लूट लाया बताओ कैसे?
क्योंकि बैंक मैनेजर बंता था...
बंता: (संता से बोला) कोई बात नहीं...पैसे ले जाओ रिवॉलवर कल दिखा जाना!!