रविवार, 24 मई, 2015 | 10:41 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    व्हाट्सएप और चिट्ठी लिख मोदी को मारने की धमकी, पुलिस की नींद उड़ी दिल्ली: आप और एलजी की जंग तेज, केजरीवाल ने विधानसभा का आपात सत्र बुलाया मुद्रास्फीति पर जेटली कर रहे हैं बड़बोलापन: कांग्रेस  लू ने ली तेलंगाना और आंध्रप्रदेश में 153 लोगों की जान  यौन उत्पीड़न मामले में पचौरी को टेरी ने माना दोषी अगले एक साल में पाकिस्तान से परमाणु हथियार खरीद सकता है ISIS रामपुर में लेखपाल हड़ताल पर इस कंपनी ने चार कर्मचारियों को तोहफे में दी कार जयललिता फिर मुख्यमंत्री बनी, पन्नीरसेल्वम फिर नंबर 2 तो इस वजह से आडवाणी को बीजेपी नेताओं ने नहीं बुलाया
गैंगरेप प्रत्यक्षदर्शी के आरोपों पर जांच रिपोर्ट 7 दिन में
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:08-01-13 06:47 PMLast Updated:08-01-13 07:04 PM
Image Loading

दिल्ली गैंगरेप की शिकार युवती के दोस्त द्वारा पुलिस के देर से आने, पीसीआर वैन के गैर जिम्मेदाराना बर्ताव सहित लगाये गये तमाम आरोपों की सरकार ने जांच का आदेश दे दिया है और सात दिन के भीतर इसकी रिपोर्ट सौंपने को कहा है।

केन्द्रीय गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव वीना कुमारी मीना आरोपों की जांच करेंगी। यह जानकारी मंत्रालय के ही एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को दी। उन्होंने बताया कि जांच के दौरान तथ्यों का पता लगाया जाएगा और यदि कोई चूक हुई है तो जिम्मेदारी तय की जाएगी। जांच अधिकारी को अपनी विस्तृत रिपोर्ट सात दिन के भीतर सौंपने को कहा गया है।

अधिकारी के मुताबिक जांच में इस तथ्य का भी पता लगाया जाएगा कि जिस बस में 16 दिसंबर 2012 की रात वारदात हुई, पूर्व में दिल्ली पुलिस द्वारा कई बार चालान किये जाने के बावजूद वह सड़क पर कैसे परिचालन कर रही थी।

अधिकारी ने बताया कि संयुक्त सचिव यह पता लगाएंगी कि घटनास्थल पर पहुंचने में पीसीआर वैनों ने कितना वक्त लगाया। मौके पर पहुंचने के बाद अधिकारक्षेत्र को लेकर क्या उन्होंने कार्रवाई में देरी की, यह भी जानने की कोशिश होगी। साथ ही यह जांच होगी कि क्या पीसीआर पर तैनात पुलिसकर्मियों ने सभी आवश्यक कार्रवाई की या नहीं।

अधिकारी ने बताया कि जांच अधिकारी से यह जांच करने को भी कहा गया है कि बस के पंजीकरण को निरस्त किया गया था या नहीं। उसे जब्त किया जा सकता था या नहीं। यदि नहीं तो उसकी वजह क्या थी। अधिकारी ने बताया कि संयुक्त सचिव पीड़ितों की देखरेख करने या उनके उपचार में सफदरजंग अस्पताल के कर्मचारियों के भूमिका की जांच करेंगी।

उन्होंने बताया कि एक महिला रिपोर्टर द्वारा 100 नंबर की आपातकालीन हेल्पलाइन मिलाये जाने के बावजूद कोई जवाब नहीं मिलने संबंधी हाल की अखबारी खबर पर भी गौर किया जाएगा और जिम्मेदारी तय की जाएगी।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
Image LoadingIPL का फाइनल देखने पहुंचेंगी ये बड़ी हस्तियां
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, राज्यपाल के. एन. त्रिपाठी के अलावा हिंदी फिल्म जगत की कई जानी-मानी हस्तियां रविवार को इडेन गरडस स्टेडियम में होने वाले आईपीएल-8 के फाइनल मैच को देखने पहुंचेंगी।