बुधवार, 01 जुलाई, 2015 | 07:23 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    'मेंढक' को है आपकी दुआओं की जरूरत, कोमा में है आपका चहेता किरदार सुनंदा पुष्कर केस में शशि थरूर का लाइ डिटेक्टर टेस्ट कराने की तैयारी में जुटी पुलिस शर्मनाक: सीरिया में आईएस ने दो महिलाओं का सिर कलम किया उपचुनाव में रिकॉर्ड डेढ लाख वोटों के अंतर से जीतीं जयलिलता, सभी विरोधी उम्मीदवारों की जमानत जब्त धौलपुर महल विवाद: कांग्रेस ने राजे के खिलाफ नए सबूत पेश किए, भाजपा बोली, छवि बिगाड़ने की साजिश ट्विटर पर जॉन ने खोली 'वेलकम बैक' की रिलीज़ डेट, आप भी जानिए बांग्लादेश में उड़ा टीम इंडिया का मजाक, इन क्रिकेटरों को दिखाया आधा गंजा गांगुली ने टीम इंडिया में हरभजन की वापसी का किया स्वागत रोहित समय के पाबंद हैं, उनके साथ काम करना मुश्किल: शाहरूख खान तेंदुलकर ने अजिंक्य रहाणे को दीं शुभकामनाएं
कांग्रेस कोर ग्रुप ने की हालात की समीक्षा
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:25-12-12 09:31 PM
Image Loading

कांग्रेस कोर ग्रुप ने दिल्ली में छात्रा के साथ गैंगरेप की घटना को लेकर विरोध प्रदर्शनों के मद्देनजर उत्पन्न स्थिति की मंगलवार को समीक्षा की और इस बात पर जोर दिया कि पुलिस को मामले से संवेदनशीलता के साथ निपटना चाहिए, जबकि हिंसा के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए।

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के निवास पर कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी की अध्यक्षता में आज शाम हुई कांग्रेस कोर ग्रुप की बैठक में रक्षा मंत्री एके एंटनी, वित्त मंत्री पी चिदम्बरम और कांग्रेस अध्यक्ष के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल ने हिस्सा लिया।

गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे और संसदीय मामलों के मंत्री कमलनाथ बैठक में विशेष आमंत्रित थे। सूत्रों के मुताबिक बैठक में इस बात को संज्ञान में लिया गया कि दिल्ली की सड़कों पर शांति है। बैठक को इस तथ्य से अवगत कराया गया कि सरकार ने प्रदर्शनकारी छात्र संगठनों और अन्य समूहों से अपने विचार जेएस वर्मा समिति को भेजने का अनुरोध किया है।

गृह मंत्री शिंदे ने शहर में सुरक्षा व्यवस्था को और मजबूत बनाने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में विस्तार से जानकारी दी और साथ बलात्कार की घटना के बाद अब तक की गई कार्यवाहियों का ब्यौरा दिया।

 
 
 
अन्य खबरें
 
 
 
 
 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड