रविवार, 29 मार्च, 2015 | 00:19 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
यूपीः टूंडला में ससुर ने बहू को निर्वस्त्र कर गांव में घुमाया।
राजोआना को 31 मार्च को दी जाएगी फांसी: कोर्ट
चण्डीगढ़, एजेंसी First Published:27-03-12 06:10 PM
Image Loading

चण्डीगढ़ की एक अदालत ने फैसला सुनाया है कि पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह की हत्या के दोषी और आतंकवादी संगठन बब्बर खालसा के आतंकवादी बलवंत सिंह राजोआना को 31 मार्च को ही फांसी दी जाए।

अदालत ने राजोआना को फांसी देने का वारंट पटियाला के जेल अधिकारियों को वापस लौटा दिया। अदालत ने साथ ही पटियाला के जेल अधीक्षक एल.एस. जाखड़ को अदालत की अवमानना करने पर कारण बताओ नोटिस भी जारी किया।

जाखड़ ने सोमवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की अदालत में पेश होकर कहा था कि राजोआना को 31 मार्च को फांसी देने के वारंट पर अमल नहीं होना चाहिए, क्योंकि इस मामले में दो अन्य अभियुक्तों का मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में लम्बित है। इसलिए वह राजोआना के मौत वारंट पर स्थगन चाहते हैं।

बहरहाल, अदालत ने जाखड़ की मांग को खारिज कर दिया और इस मामले पर मंगलवार को सुनवाई करते हुए कहा कि राजोआना को 31 मार्च को ही फांसी दी जानी चाहिए।

राजोआना अभी पटियाला जेल में बंद है। इसी मामले में दो अन्य उग्रवादियों जगतार सिंह हवारा और लखविंदर सिंह को भी दोषी करार दिया गया है। ये दोनों याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन हैं।

 
 
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
जरूर पढ़ें