शनिवार, 01 नवम्बर, 2014 | 13:48 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    आम आदमी की उम्मीदों को पूरा करे सरकार: शिवसेना वर्जिन का अंतरिक्ष यान दुर्घटनाग्रस्त, पायलट की मौत केंद्र सरकार के सचिवों से आज चाय पर चर्चा करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा आज से शुरू करेगी विशेष सदस्यता अभियान आयोग कर सकता है देह व्यापार को कानूनी बनाने की सिफारिश भाजपा की अपनी पहली सरकार के समारोह में दर्शक रही शिवसेना बेटी ने फडणवीस से कहा, ऑल द बेस्ट बाबा झारखंड में हेमंत सरकार से समर्थन वापसी की तैयारी में कांग्रेस अब एटीएम से महीने में पांच लेन-देन के बाद लगेगा शुल्क  पेट्रोल 2.41 रुपये, डीजल 2.25 रुपये सस्ता
CM हाउस के बाहर धरने पर बैठे केजरीवाल, हुए गिरफ्तार
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:07-12-12 02:38 PMLast Updated:07-12-12 03:02 PM
Image Loading

आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल और कई अन्य लोगों को दक्षिणी दिल्ली के एक इलाके में मकानों को गिराने का विरोध करने के दौरान आज सुबह मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के आवास के बाहर हिरासत में लिया गया।
    
मुख्यमंत्री के मोतीलाल नेहरू मार्ग स्थित आवास के पास करीब सौ लोग ओखला के पास शाहीनबाग में मकानों को तोड़ने के विरोध में सुबह सात बजे एकत्रित हुए, जबकि इसके एक घंटे बाद केजरीवाल वहां पहुंचे। इन लोगों ने मुख्यमंत्री से मिलने देने की मांग की।
    
प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री के आवास के बाहर अपना प्रदर्शन जारी रखा। प्रदर्शनकारियों ने जगह छोड़ने से इंकार कर दिया, जिसके बाद पुलिस को करीब साढे बारह बजे उन्हें हिरासत में लेना पड़ा।
    
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि केजरीवाल और आप के नेता मनीष सिसौदिया तथा कुमार विश्वास सहित कई अन्य लोगों को हिरासत में लिया गया।
    
किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया। पुलिस ने जनपथ मार्ग की ओर एक तरफ अवरोधक लगाए। इसी मार्ग से शीला दीक्षित के आवास के लिए प्रवेश होता है।
    
प्रदर्शनकारियों ने सरकार की कार्रवाई के खिलाफ नारेबाजी की। केजरीवाल ने कहा कि जिस जमीन पर ये लोग रह रहे हैं वह इन्हीं की जमीन है, इनके पास इसके दस्तावेज हैं। लेकिन यह अनाधिकृत है, क्योंकि आपको नक्शा सरकार द्वारा पास कराना होता है।
    
उन्होंने कहा कि लेकिन चार अक्टूबर 2010 को सोनिया गांधी ने घोषणा की थी कि 1600 कालोनियों को नियमित किया जाएगा, यह कालोनी भी उसमें शामिल थी। इसके बावजूद 500 घरों को ढहा दिया गया।
    
उन्होंने आरोप लगाया कि पास के कई शोरूम को नहीं गिराया गया। उन्होंने कहा कि हम मुख्यमंत्री से मिलने का समय मांग रहे थे, जो नहीं दिया गया। हम यहां सरकार से भिड़ने नहीं बल्कि केवल धरने पर बैठने आए हैं।
    
केजरीवाल ने आरोप लगाया कि ऐसा लगता है कि कुछ बिल्डरों को जमीन देने के लिए यह बड़े भूमि घोटाले का हिस्सा है।

 
 
 
टिप्पणियाँ