गुरुवार, 02 जुलाई, 2015 | 15:19 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
साध्वी प्राची का विवादित बयान: अमरनाथ यात्रियों को परेशानी हुई तो हज यात्रियों को भी झेलनी होगी परेशानी>> भूमि अधिग्रहण पर अध्यादेश आने के बाद भी जमीन अधिग्रहीत नही कर पा रही राज्य सरकारें >> ग्रामीण विकास मंत्री ने कहा दो या तीन राज्य सरकारों ने ही बनाये हैं भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के आधार पर नियम >> देश की सभी ग्राम पंचायतों का एसेट डाटा तैयार होगा. मोबाइल एप के जरिये एसेट की फोटो मैप पर डाली जायेगी
हर्जाना नहीं मांग सकती विदेशी कंपनियां: वाहनवती
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:05-12-12 11:02 PM
Image Loading

सिस्तेमा और टेलीनॉर जैसी विदेशी दूरसंचार कंपनियों को झटका देते हुए अटार्नी जनरल जी ई वाहनवती ने अपने पुराने रुख को दोहराया है कि ये कंपनियां शीर्ष अदालत द्वारा उनके 2जी लाइसेंस रद्द किए जाने के मामले में सरकार से क्षतिपूर्ति का दावा नहीं कर सकतीं।

समझा जाता है कि वाहनवती ने लिखा है कि वह अपने पुराने रुख पर पुनर्विचार करने में असमर्थ हैं। इस मामले जुड़े सूत्रों ने यह जानकारी दी। सिस्तेमा श्याम टेलीसर्विसेज, यूनिनॉर और लूप टेलीकॉम के विदेशी निवेशकों ने सरकार को अंतरराष्ट्रीय व्यापार समझौते के प्रावधानों के तहत नोटिस देते हुए क्षतिपूर्ति का दावा किया है, क्योंकि सरकार उनके निवेश को सुरक्षित रखने में विफल रही।

विदेश मंत्रालय और वाणिज्य मंत्रालय ने कहा था कि विदेशी कंपनियां द्विपक्षीय निवेश संरक्षण करार (बीपा) के तहत कानूनी कार्रवाई कर सकती हैं और सरकार से क्षतिपूर्ति का दावा कर सकती हैं। इसके बाद अटार्नी जनरल की राय ली गई।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड