रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 05:02 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
2जी पर सीबीआई प्रमुख के विचार पर अमल करें: कोर्ट
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:29-11-12 09:52 PM
Image Loading

सर्वोच्च न्यायालय ने गुरुवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को कहा कि पूर्व दूरसंचार सचिव श्यामल घोष और 2002 में अतिरिक्त 2जी स्पेक्ट्रम हासिल करने वाली दो कम्पनियों के विरुद्ध मुकदमा चलाने के लिए अपने निदेशक की सोच पर काम करें।

न्यायमूर्ति जी.एस. सिंघवी और न्यायमूर्ति के.एस. राधाकृष्णन की पीठ ने कहा कि उनके विचार से सीबीआई ''कुछ लोगों पर मामला चलाने के लिए उनके निदेशक द्वारा जताई गई सोच से काम करेगी।''

अदालत ने एजेंसी से अपने समक्ष पेश की गई रिपोर्ट को पढ़ने और इस पर कार्रवाई करने के लिए कहा। अदालत ने कहा, ''उन्होंने (सीबीआई निदेशक) एक विशेष दृष्टि अख्तियार की है और इस मुद्दे पर वह सीबीआई में सर्वेसर्वा हैं।''

जांच एजेंसी ने मुहरबंद लिफाफे में रिपोर्ट अदालत में पेश की थी, जिसे गम्भीरता से पढ़ने के बाद अदालत ने यह निर्देश दिया।

घोष, अन्य अधिकारी तथा अतिरिक्त स्पेक्ट्रम पाने वाली कम्पनियों के मामला चलाने में जांच एजेंसी के अंदर कथित दो राय पर रिपोर्ट की मांग की गई थी। अतिरिक्त स्पेक्ट्रम के आवंटन से सरकार को 508.22 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था।
 
 
 
टिप्पणियाँ