शुक्रवार, 04 सितम्बर, 2015 | 22:03 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नहीं देख पा रहे हैं कि सरकार से इतर असहिष्णु तत्व उन्हें एवं उनकी सरकार को नियंत्रित कर रहे हैं: राहुल गांधी ने मोदी-आरएसएस बैठक पर ट्वीट किया।
महिलाओं के जननांग में विकृति लाने के खिलाफ UN में प्रस्ताव पारित
संयुक्त राष्ट्र, एजेंसी First Published:27-11-2012 01:13:38 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने स्त्रियों की जननेंद्रियों में विकृति लाए जाने के खिलाफ अपना पहला निंदा प्रस्ताव पारित कर दिया है। इस प्रचलन के विरोधियों का कहना है कि दुनिया भर में 14 करोड़ महिलाओं को इसे झेलना पड़ता है।
   
इस कुप्रथा में युवा लड़कियों की जननेंद्रियों का कुछ भाग हटा दिया जाता है और माना जाता है कि इससे उस लड़की की कामुकता घटेगी और वह पूरी तरह शालीन रहेगी। ऐसा माना जाता है कि प्रति वर्ष तीस लाख महिलाओं और लड़कियों में बलपूर्वक इस विकृति को लाया जाता है।
   
बहुत से देशों में गैरकानूनी घोषित हो चुकी इस प्रथा की शुरुआत अफ्रीकी और मध्यपूर्व देशों में हुई थी। इस प्रथा की संयुक्त राष्ट्र में कल व्यापक स्तर पर निंदा की गई।
    
50 अफ्रीकी देशों समेत 110 से भी ज्यादा देशों ने महासभा की अधिकार समिति में इस प्रस्ताव का समर्थन किया। इस समिति ने इस प्रथा को समाप्त करने के लिए जागरुकता लाने वाली शैक्षणिक प्रक्रियाओं के साथ-साथ पूरक दंडात्मक प्रावधानों की मांग की।
    
इस प्रचलन को खत्म करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले संयुक्त राष्ट्र में इटली के राजदूत सीजेर रागाग्लिनी ने कहा, अंतिम लक्ष्य (एक पीढ़ी की स्त्रियों में जननांगीय विकृति की प्रथा खत्म करना) हासिल करने तक हम अपने प्रयासों में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। आज यह लक्ष्य पहले के मुकाबले काफी निकट प्रतीत होता है।
   
व्यापक विरोध के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र के इस प्रस्ताव को शक्तिशाली हथियार बताते हुए उन्होंने कहा कि यह निंदा और नए उपायों को अगले स्तर तक ले जाने का आहवान करेगा। रागाग्लिनी ने कहा कि अब यह हम लोगों पर निर्भर है कि हम किस तरह इसका प्रभावी ढंग से इस्तेमाल करें।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingद्रविड़ चाहते हैं टेस्ट में पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करे रहाणे
टेस्ट क्रिकेट में अजिंक्य रहाणे के बल्लेबाजी क्रम को लेकर चल रही बहस में हिस्सा लेते हुए पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ ने कहा कि वह चाहते हैं कि राजस्थान रायल्स टीम में एक समय उनका साथी रहा यह बल्लेबाज पांचवें नंबर बल्लेबाजी करे और तीसरे नंबर पर नहीं जहां वह श्रीलंका के खिलाफ अंतिम दो टेस्ट में खेलने उतरे।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।