मंगलवार, 23 दिसम्बर, 2014 | 07:47 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
झारखंड के सभी मतगणना कर्मचारी मतगणना केंद्र पर पहुंच चुके हैंझारखंड : धनबाद सीट से भाजपा प्रत्याशी राज सिन्हा पहुंचे मतगणना केंद्रझारखंड : बोकारो में शुरू हुई मतगणना की तैयारीझारखंड के सभी महागणना केन्द्र पर सुरक्षाकर्मी तैनातश्रीनगर जिले की आठ विधानसभा सीटों के लिए शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कन्वेंशन कॉम्प्लेक्स में वोटों की गिनती की जाएगी।जम्मू कश्मीर में मतगणना में कोई अवरोध पैदा ना हो इसके लिए सरकार ने कुछ इलाकों में धारा 144 के तहत प्रतिबंध लगाया है।सुरक्षा की दृष्टि से संवेदनशील माने जाने वाले जम्मू-कश्मीर में मतगणना स्थलों की सुरक्षा के कड़े इंतजाम कर दिए गए हैं।जम्मू कश्मीर में 87 विधानसभा सीटों के लिए मतगणना होगी। राज्य में 28 महिलाओं समेत 831 प्रत्याशी मैदान में हैं।झारखंड में मतगणना का काम 24 केंद्रों में किया जाएगा।81 विधानसभा सीट वाले झारखंड में 16 महिलाओं सहित कुल 208 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होगा।मतगणना स्थलों पर कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं। मतगणना को लेकर प्रत्याशियों की धड़कनें बढ़ गई हैं।झारखंड और जम्मू कश्मीर में हुए पांच चरणों के मतदान के बाद आज वोटों की गिनती सुबह आठ बजे से शुरू होगी।झारखंड में विधानसभा की 81 और जम्मू-कश्मीर में 87 सीटें हैंझारखंड में मतदान केन्द्रों के बाहर सुबह से ही सभी पार्टी के कार्यकर्ता जुटेप्रत्याशी और कार्यकर्ता मतदान केन्द्रों पर जुटेमतगणना केन्द्रों पर तैयारियों आखिरी दौर मेंझारखंड और जम्मू-कश्मीर विधानसभा चुनाव के नतीजों के रुझान जानिए हिन्दुस्तान के साथझारखंड और जम्मू-कश्मीर विधानसभा चुनाव के नतीजों के रुझान कुछ देर में
आर्थिक संकट ने घटाई नोबेल पुरस्कार की रकम
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:18-12-12 01:23 PM
Image Loading

कंगाली में आटा गीला की कहावत तो सुनी होगी, लेकिन महंगाई में इनाम ढीला का नया मुहावरा इस साल नोबेल पुरस्कारों में नजर आया। दरअसल, दुनिया भर में फैले आर्थिक संकट का असर नोबेल पुरस्कारों पर भी पड़ा और नोबेल फाउंडेशन ने पुरस्कार राशि घटा दी।

नोबेल फाउंडेशन के निदेशक मंडल ने 11 जून को फैसला किया कि इस साल इससे सम्मानित लोगों को पूर्व विजेताओं की तुलना में पुरस्कार की कुछ कम राशि अदा की जाएगी। आर्थिक संकट के चलते उन्हें 20 फीसदी कम राशि मिलेगी।

इस साल के नोबेल पुरस्कार के लिए प्रति पुरस्कार 11.3 लाख डॉलर की राशि निर्धारित की गई, जिसका मतलब है कि पुरस्कार की राशि एक करोड़ क्रोनर से कम हो जाएगी, जो 2001 से प्रति पुरस्कार के लिए दी जा रही थी।

हंगरी के राष्ट्रपति पॉल शिमिट से 29 मार्च को उनकी 1992 में उन्हें दी गई डॉक्टरेट की उपाधि साहित्यिक चोरी के आरोप में वापस ले ली गई। विपक्षी दलों ने उनके इस्तीफे की मांग की थी। बुडा़पेस्ट की सेमलवीस यूनिवर्सिटी की सीनेट ने चार के मुकाबले 33 वोटों से शिमिट की उपाधि वापस लेने का ऐलान किया और कहा कि डॉक्टरेट की थीसिस किसी वैज्ञानिक या नैतिक तरीके से नहीं की गई थी।

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ के शासन के 60 वर्ष पूरे होने पर उनके सम्मान में वेस्टमिंस्टर स्थित ऐतिहासिक बिग बैन क्लॉक टॉवर का नाम एलिजाबेथ टॉवर कर दिया गया। हाउस ऑफ कामंस ने जून में इस टॉवर का नाम महारानी के नाम पर रखने का निर्णय किया था। सउदी अरब में 5 जनवरी से दशकों पुरानी अति रूढ़िवादी अटपटी व्यवस्था खत्म हो गई और अंत: वस्त्र बेचने का अधिकार सिर्फ महिलाओं को मिल गया।

पिछले साल जून में सउदी अरब के राजा अब्दुल्ला द्वारा जारी आदेश के मुताबिक अंत: वस्त्र बेचने वाले सभी दुकान मालिकों को 6 महीने का वक्त दिया गया कि वे पुरुष की बजाय महिला कर्मचारियों को काम पर रखें। उलेमाओं ने इस आदेश का विरोध किया और फतवा भी जारी किया। इस फतवे का विरोध महिलाओं ने फेसबुक पर इनफ एम्बेरेसमेंट अभियान के जरिए दिया और अपने पक्ष में फैसले के बाद फेसबुक पर लिखा शर्मिंदगी खत्म हुई।

देश में जुलाई से सौंदर्य प्रसाधन की दुकानों में भी पुरुष कर्मचारियों पर प्रतिबंध लग गया। इस साल मार्च में जमैका के किंगस्टन में आयोजित एक दोस्ताना मुकाबले में ब्रिटिश युवराज हैरी ने विश्व के सबसे तेज धावक उसैन बोल्ट को गलती से परास्त कर दिया। हैरी ने उसैन बोल्ट को 30 मीटर दौड़ के मुकाबले के लिए चुनौती दी, पर बोल्ट के दौड़ के लिए वापस मुड़ने से पहले ही खुद दौड़ने लगे।

हैरी निर्धारित सीमा रेखा तक पहुंच गए और विजयी होने का दावा किया। 25 वर्षीय बोल्ट देखते ही रह गए और फिर उन्हें हैरी की शरारत समझ आ गई। मलेशिया में जुलाई महीने में राजनीतिक मतभेदों के चलते एक बुजुर्ग दंपति के बीच उस समय तलाक हो गया, जब पति अपनी पत्नी को कथित तौर पर अपने राजनीतिक दल में शामिल होने के लिए नहीं मना पाया।

78 वर्षीय याहया इब्राहिम ने 61 वर्षीय इस्लामी धार्मिक शिक्षक चे हसनाह चे अहमद को एक शरिया अदालत में तलाक दे दिया। ये दोनों देश के केलांतन राज्य के निवासी हैं। पत्नी ने आरोप लगाया कि उनका पति कहता था कि वह उसकी पार्टी का समर्थन नहीं कर इस्लाम से भटक रही है। चे हसनाह बैरिसन सत्तारूढ़ नेशनल गठबंधन की कट्टर समर्थक मानी जाती हैं। उन्होंने कहा कि उनका पति कट्टरपंथी इस्लामी पार्टी पीएएस का अनुयाई है।

विश्व का पहला परमाणु चालित विमान वाहक जहाज अमेरिका के पास था, जो 1 दिसंबर को सक्रिय सेवा से हट गया। नौसेना के अति महत्वपूर्ण जहाजों में से एक यूएसएस इंटरप्राइज ने नौसेना स्टेशन नोरफॉक पर एक कार्यक्रम में विदाई ली। इंटरप्राइज जब बना था, तब यह सबसे बड़ा जहाज था और इसे बिग ई के नाम से पुकारा जाने लगा था। उसके पास पारंपरिक ईंधन टैंक ढो़ने की भी जिम्मेदारी नहीं थी, जिससे वह उन दिनों अन्य विमान वाहकों से ज्यादा आयुध ढो़ सकता था। परमाणु रिएक्टर के इस्तेमाल की वजह से जहाज बगैर ईंधन भरे समुद्र में काफी समय तक तैनात रह सकता था।

वैनिटी फेयर की सर्वाधिक बेहतर परिधान की तीसरी सालाना सूची में अपने परिवार की परंपरा को आगे बढ़ाते हुए डचेज ऑफ कैम्ब्रिज केट मिडलटन इस साल शीर्ष पर रहीं। केट के आकर्षक परिधानों के लिए उनके डिजाइनर अलेग्जेंडर मैकक्वीन, एलिस टेम्परली और मैथ्यू विलियम्सन के साथ-साथ हाई स्ट्रीट ब्रांडस की भी तारीफ की गई। शाही परिवार से इस सूची में केट की सास राजकुमारी डायना तथा युवराज हैरी भी आ चुके हैं।

ब्रिटेन के समाचार पत्र 'न्यूज ऑफ द वर्ल्ड' ने फोन हैकिंग के मामले में आखिरकार पीड़ितों से सार्वजनिक तौर पर माफी मांग ही ली। इस अखबार के मालिक मीडिया मुगल रूपर्ट मर्डोक की कंपनी न्यूज इंटरनेशनल' ने पहले ही पीड़ितों से माफी मांगते हुए 2 करोड़ डॉलर के हर्जाने का ऐलान किया था। हालांकि, माफीनामे के बावजूद कुछ पीड़ितों ने अखबार के खिलाफ दायर मुकदमा वापस नहीं लिया।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड