बुधवार, 29 जुलाई, 2015 | 08:08 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का पार्थिव शरीर पालम एयरपोर्ट के लिए रवाना
एसएमएस मना रहा है 21वां जन्मदिन
लंदन, एजेंसी First Published:02-12-2012 06:24:55 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

पर्व-त्योहार हो जन्मदिन या कोई और अवसर, हम अक्सर अपने प्रियजन को संदेश भेजते हैं और मोबाइल फोन की वर्तमान दुनिया में उसका जरिया है एसएमएस। इस वर्ष एसएमएस अपना 21वां जन्मदिन मना रहा है, लेकिन वर्तमान दौर में एसएमएस करने का ट्रेंड घट रहा है।

एक नई रिपोर्ट के अनुसार दो दशक पहले जन्म लेकर लोगों के जीवन का अहम हिस्सा बनने वाले एसएमएस के जीवन में पहली बार ढलान आया है। पिछले दो दशक में इसने कई बहुराष्ट्रीय कंपनियों के व्यापार संबंधी सौदों का भविष्य तय करने से लेकर प्रेम, खुशी और दुखी आदि भावनाओं से युक्त लोगों के दिलों की बातें भी कहीं।

पहली बार तीन दिसंबर 1992 में एक कंप्यूटर से मोबाइल फोन पर संदेश भेजा गया जिसमें लिखा था मेरी क्रिसमस। वर्ष 1998 के बाद तो जैसे एसएमएस की दुनिया में बहार ही आ गई।

फिलहाल दुनिया में कुल चार अरब लोग एसएमएस सेवा का उपयोग करते हैं। लेकिन पहली बार ऐसा हुआ है जब एसएमएस की संख्याओं में काफी कमी आयी है।

मीडिया नियामक ऑफकॉम का कहना है कि पिछली दो तिमाही में एसएमएस की संख्याओं में करीब एक अरब की कमी आयी है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingप्रतिबंध हटाने के लिए बीसीसीआई से संपर्क करूंगा: श्रीसंत
जब वह तिहाड़ जेल में था तो वह आत्महत्या के बारे में सोच रहा था लेकिन तेज गेंदबाज एस श्रीसंत को अब उम्मीद बंध गई है कि वह वापसी कर सकते हैं और खुद पर लगे प्रतिबंध को हटाने के लिये वह बीसीसीआई से संपर्क करेंगे।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड