सोमवार, 06 जुलाई, 2015 | 04:46 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    लालू की हैसियत महुआ रैली में उजागर, नीतीश को पक्का मारेंगे लंगड़ीः पासवान एयरइंडिया के यात्री ने की खाने में मक्खी की शिकायत  फेसबुक ने 15 साल बाद मां-बेटे को मिलाया  व्हाट्सएप मैसेज से बवाल कराने वाला बीए का छात्र मोहित गिरफ्तार मुरादाबाद: नदी में पलटी जुगाड़ नाव, आठ डूबे, सर्च ऑपरेशन जारी यूपी के रामपुर में दो भाईयों की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच में जुटी बिहार के हाजीपुर में भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद, छह गिरफ्तार झारखंड: चतरा के टंडवा में हाथियों ने कई घर तोड़े, खा गए धान बिहार में आंखों का अस्पताल बनाने के लिए इंडो-अमेरिकन्स का बड़ा कदम मुजफ्फरनगर के शुक्रताल में हजारों मछलियां मरीं, संत समाज बैठा धरने पर
भारत में आनलाइन खोज और उपयोगितावादी हुई: गूगल
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:18-12-12 08:31 PM
Image Loading

गूगल इंडिया का कहना है कि भारत में आनलाइन खोज समय के साथ और अधिक उपयोगी बनी है। यानी लोग अब आनलाइन खोज बैंकिंग, शापिंग तथा ट्रैवल आदि उपयोगी सेवाओं के लिए अधिक करते हैं जबकि कुछ साल पहले यह मनोरंजन पर केंद्रित होती थी।

गूगल इंडिया के उपाध्यक्ष राजन आनंदन ने सालाना जेइतजेइस्ट सूची जारी करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आनलाइन सर्च में उपयोगी सेवाएं अग्रणी भूमिका निभा रही हैं। आनंदन ने संवाददाताओं से कहा कि गूगल की 2012 जेइतजेइस्ट सूची के आंकड़े दुनिया भर में 146 भाषाओं में 1200 अरब खोज पर आधारित हैं। 13.7 करोड़ उपयोक्ताओं के साथ भारत तीसरा सबसे बड़ा इंटरनेट बाजार है। उन्होंने कहा कि भारत में लोग अब इंटरनेट का इस्तेमाल अपनी व्यक्तिगत जरूरतों के लिए करने लगे हैं जिनमें शांपिग, टिकट बुकिंग, खरीद के बारे में जानकारी लेना शामिल है।

इसके अनुसार सबसे अधिक सर्च में आईबीपीएस (इंस्टिटयूट आफ बैंकिंग पर्सनल सलेक्शन) पहले नंबर पर है। इसके बाद गेट परीक्षा, सनी लियोन, एक था टाइगर व राउडी राठौड़ है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड