रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 01:12 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
ये क्या...एक लाख स्कूलों में शौचालय नहीं
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:06-12-12 03:06 PM
Image Loading

केंद्र सरकार ने गुरुवार को लोकसभा को बताया कि देश में कुल 10,67,844 स्कूलों में से एक लाख से अधिक स्कूलों में शौचालयों की सुविधा उपलब्ध नहीं है और 61 हजार से अधिक स्कूलों में पेयजल सुविधा का अभाव है।

पेयजल एवं साफ सफाई राज्य मंत्री भरत सिंह सोलंकी ने सदन में एल राजा गोपाल, बैजयंत जय पांडा, संजय निरुपम तथा सौगत राय के सवाल के लिखित जवाब में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि देश में कुल 10,67,844 स्कूल हैं, जिनमें से 1,28,781 स्कूलों में शौचालयों और 61,267 स्कूलों में पेयजल सुविधाओं का अभाव है, जो क्रमश: 12.6 फीसदी और 5.74 फीसदी है।

सोलंकी ने बताया कि राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम और निर्मल भारत अभियान के तहत वर्ष 2012-13 के अंत तक ग्रामीण सरकारी स्कूलों में सौ फीसदी शौचालय तथा पेयजल सुविधा उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है।

उन्होंने इस बात से सहमति जताई कि उच्चतम न्यायालय ने हाल ही में सभी स्कूलों में छह महीने के भीतर शौचालय और पेयजल सुविधाएं मुहैया कराने का निर्देश दिया है।
 
 
 
टिप्पणियाँ