रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 05:49 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
आकाशगंगा में पृथ्वी जैसे 17 अरब ग्रह...
वॉशिंगटन, एजेंसी First Published:08-01-13 03:48 PM
Image Loading

अमेरिकी खगोलशास्त्रियों ने आकाशगंगा में पृथ्वी के आकार के 17 अरब ग्रहों के होने की संभावना व्यक्त की है।

अंतरिक्ष और नासा से संबंधित खबरों की वेबसाइट 'स्पेस डॉट काम' के मुताबिक अमेरिकी शोधकर्ता नासा के केपलर स्पेस टेलीस्कोप द्वारा प्राप्त आंकड़ों के विश्लेषण के बाद इस नतीजे पर पहुंचे कि आकाशगंगा में मौजूद लगभग 17 प्रतिशत तारे लगभग पृथ्वी के आकार के एक वाह्यग्रह की करीबी कक्षा में चक्कर काटते हैं।

समाचार एजेंसी आरआईए नोवोस्ती के अनुसार, केपलर टेलीस्कोप के कार्यों पर आधारित अध्ययन को 'द एस्ट्रोफिजिकल' पत्रिका ने प्रकाशन के लिए स्वीकार कर लिया है। नासा ने सोमवार को यह जानकारी दी कि फरवरी 2012 में केपलर द्वारा जारी आंकड़ों की सूची में अब तक 20 प्रतिशत वृद्धि देखी गई है। और अब कुल 2,740 संभावित ग्रह 2,036 तारों का चक्कर काटते हैं।

नासा के मुताबिक खोजे गए तारों में 100 से ज्यादा तारों के ग्रह होने का प्रमाण मिला है। यदि पृथ्वी से समानता वाले ग्रहों के अंतरिक्ष में मौजूद होने के पक्के प्रमाण मिलते हैं, तो अगले चरण में उन ग्रहों के वातावरण में ऑक्सीजन और जलवाष्प की मौजूदगी का पता लगाया जाएगा।
 
 
 
टिप्पणियाँ