रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 04:20 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
एलियंस हैं या नहीं? बस 2024 तक करें इंतजार
लंदन, एजेंसी First Published:27-12-12 09:35 AMLast Updated:27-12-12 10:09 AM
Image Loading

मानव अगले 12 सालों में दूसरे ग्रह के प्राणियों (एलियन) से संपर्क स्थापित कर सकता है। यह बात ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय के यूएफओ (अन आइडेंटीफाइड ऑब्जेक्ट) परियोजना के एक पूर्व अधिकारी ने कही है।

समाचार पत्र डेली एक्सप्रेस के मुताबिक यूएफओ परियोजना के पूर्व प्रमुख निक पोप ने कहा कि स्क्वोयर किलोमीटर एरे (एसकेए) नामक वृहदाकार दूरबीन के विकास से यह जाना जा सकेगा कि ब्रह्मांड में कहीं और जीवन है या नहीं। पोप ने मंत्रालय में 21 सालों तक यूएफओ देखी जाने वाली घटना का अध्ययन किया है।

उन्होंने कहा कि मैं एक विवादास्पद बयान दूंगा। मैं आपको एक निश्चित वर्ष के बारे में बताउंगा कि कब संपर्क की पहली बार पुष्टि होगी और वह वर्ष 2024 है। अगर सभी योजना समय से पूरी होती है तो उसी वर्ष एसकेए काम करना शुरू कर देगा।

एसकेए का काम 2016 में शुरू होगा। यह दुनिया का सबसे बड़ा रेडियो दूरबीन होगा। इसमें हजारों रिसेप्टर लगे होंगे, जो ऑस्ट्रेलिया में पांच हजार वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैले होंगे।

वैज्ञानिकों के मुताबिक एसकेए किसी भी दूसरे दूरबीन से 50 गुणा अधिक संवेदनशील होगा और 10 हजार गुणा अधिक तेजी से आकाश का सर्वेक्षण करने में मदद करेगा। पोप ने कहा कि अगर 100 प्रकाशवर्ष दूर भी यदि कोई सभ्यता होगी, तो इस दूरबीन से पता चल जाएगा।
 
 
 
टिप्पणियाँ