शनिवार, 01 अगस्त, 2015 | 19:22 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    पाकिस्तानी रेंजर्स ने किया सीजफायर का उल्लंघन, बीएसफ ने दिया करारा जवाब खेल रत्न के लिए सानिया के नाम की सिफारिश भाजपा सांसद वरुण गांधी का बयान, 94 फीसदी दलित, अल्पसंख्यक समुदाय को मिली फांसी की सजा विमान हादसे में ओसामा बिन लादेन के परिवार के सदस्यों की मौत  10 रुपए में ऐप उपलब्ध कराएगा गूगल प्ले  ISIS की शर्मनाक हरकत: चार साल के बच्चे को दी तलवार और कहा...मां का सिर काट डालो कोमेन का कहर: यूपी, पंजाब, हरियाणा में भारी बारिश, गुजरात और राजस्थान में बाढ़  मुंबई के बांद्रा इलाके में लगाए गए किसिंग वाले पोस्टर, लोग नाराज याकूब की पत्नी के लिए राज्यसभा सीट की मांग करने वाले महाराष्ट्र सपा उपाध्यक्ष फारुख घोसी निलंबित पापा बनने वाले हैं जकरबर्ग, बेबी ने अंगूठा दिखाकर फेसबुक को किया LIKE
अब आकाश पर करें वैज्ञानिक प्रयोग
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:16-12-2012 03:08:08 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

अब छात्र सस्ते टैबलेट आकाश पर भी वैज्ञानिक प्रयोग कर सकेंगे और उन्हें इसके लिए प्रयोगशाला में जाने की जरूरत नहीं होगी।

सस्ता टैबलेट आकाश को मानव संसाधन विकास मंत्रालय के वर्चुअल लैब परियोजना से जोड़ दिया गया है जिससे छात्रों को न केवन विज्ञान एवं गणित के जटिल प्रयोगों को समझने में मदद मिलेगी बल्कि वे इसका अभ्यास भी कर सकेंगे।

सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी के माध्यम से राष्ट्रीय शिक्षा मिशन (एनएमआईसीटी) के सलाहकार प्रदीप शर्मा ने कहा कि वर्चुअल लैब को सस्ते आकाश से जोड़ा गया है जिस पर छात्र न सिर्फ प्रयोग कर सकते हैं बल्कि विज्ञान एवं गणित से जुड़ी विषयवस्तु भी समझ सकते हैं क्योंकि इस पर लेक्चर एवं वीडियो भी लोड किये गए हैं।

वर्चुअल लैब ऐसी व्यवस्था है जिसके माध्यम से छात्र इंटरनेट के उपयोग से कोई प्रयोग कर सकते हैं या किसी विषय को आभासी तरीके से समझ सकते हैं। मसलन अगर किसी छात्र को कोई सर्किट तैयार करना है तो वर्चुअल लैब में दिशा-निर्देशों के साथ ऐसे उपकरण एवं वस्तुएं रखी गई हैं जिसका उपयोग कर वे सर्किट तैयार कर सकते हैं। इस दौरान उन्हें शिक्षकों का मार्गदर्शन भी प्राप्त होगा।

उन्होंने कहा कि आकाश पर प्रोक्सिमिटी खंड में लेक्चर एवं वीडियो डाले गए हैं जहां छात्र ऑफलाइन शिक्षा भी प्राप्त कर सकते हैं। इस खंड में 141 पाठ्यक्रम डाले गए हैं जो उच्च शिक्षा के विविध आयामों से जुड़े हुए हैं।

अधिकारी ने बताया कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने जाने माने शिक्षाविदों के सहयोग से अपने शैक्षणिक पोर्टल साक्षात पर सीधे लैब टेस्ट करने की सुविधा प्रदान की है और इसी व्यवस्था को आकाश से जोड़ा गया है। इसके माध्यम से छात्रों को अपने प्रदर्शन का आकलन करने और अपने सवालों का जवाब ढूंढ़ने में भी मदद मिलेगी।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय देश के सुदूर क्षेत्रों में छात्रों को बेहतर उच्च शिक्षा प्रदान करना चाहती है। अधिकारी ने कहा कि इस योजना के तहत सभी कालेजों और विश्वविद्यालयों को  ब्रॉडबैंड इंटरनेट सुविधा से जोड़ा गया है। इस परियोजना के तहत सस्ते टैबलेट आकाश के माध्यम से उच्च शिक्षा को आगे बढ़ाने की योजना बनाई गई है।

मसलन गोरखपुर, हाजीपुर, हिसार या ऐसे ही किसी क्षेत्र पढ़ाई करने वाला कोई छात्र अंतरिक्ष विज्ञान पर कोई प्रयोग करना चाहता है तो आकाश के माध्यम से पोर्टल पर न केवल उसे इसरो द्वारा तैयार की गई ताजा जानकारी मिलेगी, बल्कि वह संबंधित प्रयोग भी कर सकेगा।

सस्ते टैबलेट आकाश पर इन प्रयोगों और पढ़ाई के लिए कोई शुल्क नहीं रखा गया है। सभी पाठ्यसामग्री नि:शुल्क खुले स्रोत के माध्यम से प्रदान की जा रही है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingआक्रामक शैली बरकरार रखें कोहली: द्रविड़
राहुल द्रविड़ को बतौर टेस्ट कप्तान श्रीलंका में पहली पूर्ण सीरीज खेलने जा रहे विराट कोहली के कामयाब रहने का यकीन है और उन्होंने कहा कि कोहली को अपनी आक्रामक शैली नहीं छोड़नी चाहिए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब बीमार पड़ा संता...
जीतो बीमार पति से: जानवर के डॉक्टर को मिलो तब आराम मिलेगा!
संता: वो क्यों?
जीतो: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो, गधे की तरह दिनभर काम करते हो, घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भोंकते हो, और रात को खाकर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर आपका क्या इलाज करेगा?