गुरुवार, 18 सितम्बर, 2014 | 15:10 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
अगले साल की शुरुआत में मोदी को चीन आने का न्यैता: शी जिनपिंगदोनों देश बढ़ती अर्थव्यवस्था और साझा संभावनाओं से भरपूर: शी जिनपिंगमोदी के नेतृत्व में और विश्वास की उम्‍मीद: शी जिनपिंगभारत की उपलब्धि से खुशी: शी जिनपिंगमैंने चीन की वीजा नीति पर भी चिंता जताई है: मोदीदोनों देश इस बात पर सहमत हैं कि सीमा पर शांति दोनों देशों में संबंधों की नींव है: मोदीभारत में दो चाइनीज इंडस्ट्रियल पार्क बनेंगे: मोदीपांच साल में चीन 20 बिलियन डालर का भारत में निवेश करेगा: मोदीदोनों देशों में आपसी भरोसा व सीमा पर मित्रता जरूरी है: मोदीभारत के निर्माण में चीन अहम भूमिका निभा सकता है : मोदीचीन भारत का एक महान पड़ोसी: मोदीभारत चीन के साथ संबंधों को महत्वपूर्ण मानता है :मोदी
 
अब आकाश पर करें वैज्ञानिक प्रयोग
नई दिल्ली, एजेंसी
First Published:16-12-12 03:08 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

अब छात्र सस्ते टैबलेट आकाश पर भी वैज्ञानिक प्रयोग कर सकेंगे और उन्हें इसके लिए प्रयोगशाला में जाने की जरूरत नहीं होगी।

सस्ता टैबलेट आकाश को मानव संसाधन विकास मंत्रालय के वर्चुअल लैब परियोजना से जोड़ दिया गया है जिससे छात्रों को न केवन विज्ञान एवं गणित के जटिल प्रयोगों को समझने में मदद मिलेगी बल्कि वे इसका अभ्यास भी कर सकेंगे।

सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी के माध्यम से राष्ट्रीय शिक्षा मिशन (एनएमआईसीटी) के सलाहकार प्रदीप शर्मा ने कहा कि वर्चुअल लैब को सस्ते आकाश से जोड़ा गया है जिस पर छात्र न सिर्फ प्रयोग कर सकते हैं बल्कि विज्ञान एवं गणित से जुड़ी विषयवस्तु भी समझ सकते हैं क्योंकि इस पर लेक्चर एवं वीडियो भी लोड किये गए हैं।

वर्चुअल लैब ऐसी व्यवस्था है जिसके माध्यम से छात्र इंटरनेट के उपयोग से कोई प्रयोग कर सकते हैं या किसी विषय को आभासी तरीके से समझ सकते हैं। मसलन अगर किसी छात्र को कोई सर्किट तैयार करना है तो वर्चुअल लैब में दिशा-निर्देशों के साथ ऐसे उपकरण एवं वस्तुएं रखी गई हैं जिसका उपयोग कर वे सर्किट तैयार कर सकते हैं। इस दौरान उन्हें शिक्षकों का मार्गदर्शन भी प्राप्त होगा।

उन्होंने कहा कि आकाश पर प्रोक्सिमिटी खंड में लेक्चर एवं वीडियो डाले गए हैं जहां छात्र ऑफलाइन शिक्षा भी प्राप्त कर सकते हैं। इस खंड में 141 पाठ्यक्रम डाले गए हैं जो उच्च शिक्षा के विविध आयामों से जुड़े हुए हैं।

अधिकारी ने बताया कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने जाने माने शिक्षाविदों के सहयोग से अपने शैक्षणिक पोर्टल साक्षात पर सीधे लैब टेस्ट करने की सुविधा प्रदान की है और इसी व्यवस्था को आकाश से जोड़ा गया है। इसके माध्यम से छात्रों को अपने प्रदर्शन का आकलन करने और अपने सवालों का जवाब ढूंढ़ने में भी मदद मिलेगी।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय देश के सुदूर क्षेत्रों में छात्रों को बेहतर उच्च शिक्षा प्रदान करना चाहती है। अधिकारी ने कहा कि इस योजना के तहत सभी कालेजों और विश्वविद्यालयों को  ब्रॉडबैंड इंटरनेट सुविधा से जोड़ा गया है। इस परियोजना के तहत सस्ते टैबलेट आकाश के माध्यम से उच्च शिक्षा को आगे बढ़ाने की योजना बनाई गई है।

मसलन गोरखपुर, हाजीपुर, हिसार या ऐसे ही किसी क्षेत्र पढ़ाई करने वाला कोई छात्र अंतरिक्ष विज्ञान पर कोई प्रयोग करना चाहता है तो आकाश के माध्यम से पोर्टल पर न केवल उसे इसरो द्वारा तैयार की गई ताजा जानकारी मिलेगी, बल्कि वह संबंधित प्रयोग भी कर सकेगा।

सस्ते टैबलेट आकाश पर इन प्रयोगों और पढ़ाई के लिए कोई शुल्क नहीं रखा गया है। सभी पाठ्यसामग्री नि:शुल्क खुले स्रोत के माध्यम से प्रदान की जा रही है।

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
टिप्पणियाँ
 

लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें

आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूपसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 05:41 AM
 : 06:55 PM
 : 16 %
अधिकतम
तापमान
43°
.
|
न्यूनतम
तापमान
24°