शुक्रवार, 31 अक्टूबर, 2014 | 11:04 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
कोयला घोटाला मामले में विशेष अदालत के समक्ष पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता और चार अन्य बतौर आरोपी पेश हुए, जमानत मांगी
अंतरिक्ष में ऊर्जा के विशाल स्रोत...
मेलबर्न, एजेंसी First Published:03-01-13 02:20 PM
Image Loading

खगोलविदों के एक दल ने दावा किया है कि उन्होंने अंतरिक्ष में पृथ्वी से दिखाई देने वाले, ऊर्जा के विशाल स्रोतों को मापने में मदद की है और ये स्रोत 1,000 किमी प्रति सेकेंड की गति से आकाशगंगा के मध्य से निकल रहे हैं।

न्यूसाउथ वेल्स में एक दूरबीन से इस प्रक्रिया का अवलोकन कर रहे खगोलविदों के हवाले से एबीसी की खबर में कहा गया है कि कथित अंतरिक्ष गीजर नवनिर्मित तारों से अत्यंत वेग से निकल रहे हैं।

पहले माना जाता था कि ऊर्जा के इन स्रोतों का उद्भव आकाशगंगा के मध्य में स्थित ब्लैक होल से हो रहा है। इन कथित अंतरिक्ष गीजर्स की खोज न्यू साउथ वेल्स, अमेरिका, इटली और नीदरलैंड के खगोलविदों ने की। खोज के बारे में जानकारी नेचर पत्रिका के गुरुवार के अंक में प्रकाशित हुई है।

अनुसंधान दल के प्रमुख, सीएसआईआरओ के एत्तोरे कैरेटी ने कहा कि जो बहाव है उसमें मौजूद ऊर्जा तारे के विस्फोट से निकलने वाली ऊर्जा से लाख गुना ज्यादा है। यह हमारी ओर नहीं आ रहा है। गैलेक्टिक प्लेन से निकलने के बाद इसकी दिशा में कई बार बदलाव हो रहा है। हमें कोई खतरा नहीं है क्योंकि गैलेक्टिक सेंटर से हमारी पृथ्वी की दूरी 30,000 प्रकाश वर्ष है।

 
 
 
टिप्पणियाँ