शनिवार, 29 अगस्त, 2015 | 14:51 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
देश तानाशाही की ओर जा रहा है, यह बिहार का चुनाव नहीं पूरे देश को बचाने का चुनाव है: लालू।लालू यादव ने सपा को 5 सीट देने की घोषणा की।उत्तराखंडः रुड़की के मोहनपुरा फाटक के पास टैंकर और बाइक की टक्कर, बाइक सवार महिला की मौत, पति घायल।झारखंड: रांची में डीपीएस स्कूल के पास ट्रेन से कटकर एक व्यक्ति की मौत।
'महिलाओं के बारे में त्याग दीजिये गलत धारणा'
इलाहाबाद, एजेंसी First Published:25-12-2012 06:07:03 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

दिल्ली में एक युवती के साथ सामूहिक बलात्कार की पृष्ठभूमि में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने मंगलवार को कहा कि महिलाओं के खिलाफ आपराधिक हमले अक्सर उनके प्रति नकारात्मक धारणाओं के चलते होते हैं और उन्होंने इन धारणाओं को त्यागने का आह्वान किया।

राष्ट्रपति ने यहां मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान के नौवें दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार स्थिति के प्रति सतर्क है तथा यह सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक कदम उठा रही है कि ऐसी दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं हो।

उन्होंने कहा कि मैं बहादुर लड़की के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं। समाज के कुछ तत्वों द्वारा महिलाओं के खिलाफ पैदा की जा रही और फैलायी जा रही नकारात्मक धारणा की पृष्ठभूमि में महिलाओं के खिलाफ आपराधिक हमले हो रहे हैं। इसका अंत होना चाहिए।

घटना पर अपनी गहरी हताशा जताते हुए मुखर्जी ने कहा कि हमें समाज के प्रत्येक सदस्य के मन में महिलाओं के लिए बेहद सम्मान पैदा करना होगा और देश के युवाओं को इस क्षेत्र में पहल करनी होगी।

उन्होंने इस बात की ओर ध्यान दिलाया कि वह इस वीभत्स घटना को लेकर युवाओं की जायज गुस्सा की सराहना करते हैं। उन्होंने युवाओं को याद दिलाया कि तर्क को ताक पर नहीं रख दिया जाना चाहिए। उन्हें अपनी भावनाओं को नियंत्रण में रखना चाहिए तथा शांतिपूर्ण ढंग से स्थिति का सामना करना चाहिए।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingLIVE: भारत को 7वां झटका, आर. अश्विन आउट
भारतीय क्रिकेट टीम ने शनिवार को सिन्हलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ तीसरे निर्णायक टेस्ट में बल्लेबाजी करते हुए अपना 7वां विकेट गंवा दिया।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब जय की हुई जमकर पिटाई...
वीरू (जय से): कल तुझे मेरे मोहल्ले के दस लड़कों ने बहुत बुरी तरह पीटा। फिर तूने क्या किया?
जय: मैंने उन सभी से कहा कि कि अगर हिम्मत है, तो अकेले-अकेले आओ।
वीरू: फिर क्या हुआ?
जय: होना क्या था, उसके बाद उन सबने एक-एक करके फिर से मुझे पीटा।