रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 02:40 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
युवती ने बताया, वह पिता के बच्चों की मां बनी
First Published:01-05-12 11:23 PM

 ग्रेटर नोएडा/वरिष्ठ संवाददाता

मानवता को शर्मसार करने वाले एक मामले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने पुलिस को एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है। नोएडा के सेक्टर 39 में रहने वाली एक युवती ने न्यायालय को बताया कि उसके पिता ने उसके साथ कई महीने तक रेप किया। किसी तरह वह जान बचाकर भागी लेकिन, तब तक वह पिता से गर्भवती हो चुकी थी। करीब डेढ़ महीने पहले उसने एक बच्चों को जन्म दिया है।युवती के अधिवक्ता योगेश कुमार सोलंकी ने बताया कि वह अपने माता-पिता के साथ सेक्टर 39 में रहती थी। जुलाई 2011 में उसे पीलिया हो गया था। एक दिन वह घर में अकेली थी। उसकी मां कहीं गई हुई थी। युवती के पिता ने उससे रेप करने का प्रयास किया। विरोध किया तो डंडे से बुरी तरह पीटा और उसके बाद रेप किया। युवती ने अदालत को बताया कि फिर ऐसा अकसर होने लगा। उसकी मां भी जानबूझकर घर से बाहर चली जाती थी। 17 दिसंबर, 2011 को मौका पाकर युवती किसी तरह घर से भागने में कामयाब हो गई। लेकिन, तब तक वह गर्भवती हो चुकी थी। इसके बाद 17 मार्च, 2012 को युवती ने एक बच्चों को जन्म दिया है। युवती ने न्यायालय से निवेदन किया है कि वह अपने आरोप की पुष्टि के लिए बच्चों का डीएनए टेस्ट करवाने के लिए तैयार है। सीजेएम विपिन कुमार शर्मा ने इस प्रकरण में पुलिस को आदेश दिया है। सीजेएम ने कहा है कि मामला प्रथम दृष्टया संज्ञेय श्रेणी में आता है। पुलिस संगत धाराओं में एफआईआर दर्ज करके जांच करे।
 
 
 
 
टिप्पणियाँ