शुक्रवार, 31 अक्टूबर, 2014 | 05:26 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    नौकरानी की हत्या: धनंजय को जमानत, जागृति के रिकार्ड मांगे अमर सिंह के समाजवादी पार्टी में प्रवेश पर उठेगा पर्दा योगी आदित्य नाथ ने दी उमा भारती को चुनौती देश में मौजूद कालेधन पर रखें नजर : अरुण जेटली शिक्षा को लेकर मोदी सरकार पर आरएसएस का दबाव कोयला घोटाला: सीबीआई को और जांच की अनुमति सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं
साढे़ 23 हजार दुर्घटनाओं में करीब सात हजार की मौत
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:27-03-12 01:28 PM

राजधानी दिल्ली में पिछले तीन वर्षों के दौरान 23426 सड़क दुर्घटनाओं में 6902 व्यक्तियों को जान गंवानी पडी है।

गृह राज्यमंत्री मुल्लापल्ली रामचन्द्रन ने मंगलवार को लोकसभा में एक लिखित प्रश्न के उत्तर में जानकारी देते हुए बताया कि दिल्ली पुलिस ने शराब पीकर गाडी़ चलाने वालों और यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाणिज्यिक वाहनों के खिलाफ ठोस कार्रवाई की है। इसकी वजह से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में घातक सड़क दुर्घटनाओं में कमी आई है।

रामचन्द्रन ने बताया कि वर्ष 2009 से लेकर इस वर्ष 15 मार्च तक दिल्ली में कुल 23426 सड़क दुर्घटनाएं हुई। इनमें 6902 लोगों को जान गंवानी पडी़ है। वर्ष 2009 में 7516 दुर्घटनाओं में 2325 व्यक्ति मारे गए। वर्ष 2010 में दुर्घटनाओं और मृतकों की संख्या घटकर क्रमश 7260 और 2153 रह गई। इसके बाद के वर्ष में यह संख्या क्रमश 7281 तथा 2065 रही। इस वर्ष 15 मार्च तक 1369 दुर्घटनाओं में 359 लोगों की मौत हुई है।

उन्होंने बताया कि दिल्ली पुलिस ने सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए निरंतर प्रयास किया है और एक यातायात प्रबंधन योजनातैयार की है जो सड़क सुरक्षा शिक्षा, विनियमन, प्रवर्तन तथा इंजीनियरिंग समाधानों पर आधारित है। यातायात प्रबंधन योजना के आधार पर दिल्ली पुलिस ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में भीड़भाड़ को कम करने तथा यातायात को सुचारु बनाने के लिए अनेक कदम उठाए हैं।

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ