class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डासना तिराहे पर नहीं लगेगा जाम, अंडरपास को स्वीकृ़ति

डासना तिराहे पर जाम नहीं लगेगा, साथ ही हादसों पर भी लगाम लगेगी। यहंा पर एनएचएआई द्वारा अंडरपास को स्वीकृति दे दी गई है। आरओबी (रेलवे ओवरब्रिज) के बगल में अंडरपास बनाया जाएगा। अगले माह से इसका काम शुरू हो जाएगा।

लालकुआं की ओर से आने वाला ट्रैफिक इसी तिराहे पर हापुड़ की ओर जाता है। वहीं, दूसरी ओर हापुड़ चुंगी की ओर से आ रहा ट्रैफिक चलता रहा रहता है। इसके अलावा हापुड़ चुंगी से आने वाला ट्रैफिक अगर लालकुआं की ओर जाना चाहता है, तो उसे यू टर्न लेना होता है। इन दोनों स्थितियों में हादसे की आशंका रहती है, साथ ही सुबह शाम यहां पर जाम लगा जाता है। इसी को ध्यान में रखते हुए अंडरपास बनाने का प्रस्ताव बनाया गया था, जिसे एनएचएआई ने स्वीकृति प्रदान कर दी है।

ये है तैयारी

लालकुअंा की ओर से आने वाले ट्रैफिक हापुड़ रोड पर सीधे न जाकर अंडर पास होते हुए आरओबी के बाईं ओर पहुंच जाएंगे और पेट्रोल पंप होते हुए एनएच24 में आ सकेंगे। इससे हादसे और जाम की की संभावना कम हो जाएगी।

आरओबी के ऊपर से निकलेगा एक्सप्रेस वे

मेरठ एक्सप्रेस वे की वजह से यहंा पर किसी भी तरह ट्रैफिक बाधित न हो, इसके लिए डासना फ्लाईओवर के ऊपर से मेरठ एक्सप्रेस वे निकाला जाएगा। यह फ्लाईओवर आध्यात्मिक नगर से होते हुए मेरठ की ओर जाएगा।

आसपास ट्रैफिक रहेगा सिग्नल फ्री

यह सारी कवायद डासना के आसपास ट्रैफिक सिग्नल फ्री करने के लिए की जा रही है। यहां पर किसी भी ओर से आकर कहीं भी जाने के लिए वाहन चालक को इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

दूसरे चरण के साथ शुरू होगा काम

अंडरपास का काम एनएच 24 चौड़ीकरण के दूसरे चरण के साथ शुरू होगा। दूसरे चरण काम अगले माह शुरू हो जाएगा। इसका वर्क आर्डर इसी माह अंत तक जारी कर दिया जाएगा। इसके साथ ही कम पूरा करने की तिथि भी निर्धारित की कर दी जाएगी।

एनएच 24 पर एक नजर

पहला चरण

एनएच 24 निजामुद्दीन से यूपी गेट (दिल्ली और यूपी बार्डर) कुल लंबाई- 8.7 किलोमीटर, लागत - 937 करोड़ ।

दूसरा चरण

यूपी गेट से डासना, कुल लंबाई 19.2 किलोमीटर, लागत 1998करोड़ ।

तीसरा चरण

डासना से हापुड़ , कुल लंबाई 22.2 किलोमीटर, कुल लागत 1037 करोड़।

चौथा चरण

डासना से मेरठ , 6 लेन एक्सप्रेस-वे, कुल लंबाई 46 किलोमीटर, कुल लागत 3588 करोड़ ।

डासना आरओबी के साथ अंडरपास बनाया जएगा। तकनीकी टीम द्वारा सर्वे के बाद इसे स्वीकृति प्रदान कर दी गई है। दूसरा चरण यूपी गेट से डासना तक का निर्माण कार्य अगले माह शुरू हो जाएगा। इसमें किसी भी तरह की बाधा नही है।

आरपी सिंह

परियोजना निदेशक

एनएच 24 और एक्सप्रेस वे

शरद पाण्डेय

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dasna will not look at the jam, acceptance underpass