class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिसेज इंटरनेशनल बनकर लौटी दून की बेटी मेघना

दून के बेटी मेघना बल्लभ जोशी इस साल अप्रैल तक दो बच्चों वाली एक आम भारतीय मां जैसी थी, अब मेघना की दुनिया बदल गई है। इसी साल 17 अप्रैल को मिसेज इंडिया इंटरनेशनल का खिताब मिलने के बाद मेघना अब विवाहित भारतीय नारी के चेहरे के तौर पर दुनिया भर में घूम रही है। ताज मिलने के बाद बुधवार को पहली बार दून पहुंची मेघना का यहां जोरदार स्वागत किया गया।

अमेरिका के अटालांटा में इस 17 अप्रैल को बीस हजार प्रतियोगितों के बीच मिसेज मेघना बल्लभ जोशी मिसेस इंडिया इंटरनेशनल बनी। इसी खिताब की दम पर उन्हें यूएसए के स्वतंत्रता दिवस परेड में भारत की झांकी का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला। सेलीब्रिटी बनने के बाद पहली बार दून पहुंची मेघना का दूनवासियों ने जोरदार स्वागत किया। परिवार समेत जॉर्जिया में रह रही मेघना ने हिन्दुस्तान से विशेष बातचीत में कहा कि वह पिछले 12 सालों से यूएसए में रहकर सेफ अलाइंस संस्था से जुड़ी हुई हैं, जो घरेलू उत्पीड़न का शिकार भारतीय उपमहाद्वीप की महिलाओं के लिए काम करती हैं। वह एक मोटीवेटर के रूप में उनकी समस्याओं को सुनती हैं और उसे दूर करती हैं। मेघना का कहना है कि वो उत्तराखंड के लिए भी इस विषय पर काम करने को तैयार है। बकौल मेघना यह खिताब सिर्फ सौंदर्य के आधार पर ही नहीं बल्कि सामाजिक गतिविधियों में भागीदारी के आधार पर भी दिया जाता है। मेघना का दून से अहम जुड़ाव रहा है। सेट थॉमस स्कूल और डीएवी कॉलेज से पढ़ी मेघना के माता-पिता रायपुर रोड में रहते हैं।

मेघना का जोरदार स्वागत

देहरादून पहुचने पर बुधवार को इंगेजिंग इंडिया की ओर मेघना का जोरदार स्वागत किया गया। कांग्रेस नेता आशा मनोरमा शर्मा डोबरियाल के नेतृत्व में युवाओं ने जौलीग्रांट एयरपोर्ट से होटल मधुबन तक बाइक रैली के साथ मेघना की अगुवाई की। यहां विभिन्न संस्थाओं की ओर से मेघना को बुके देकर सम्मानित किया गया। इसमौके पर पद्श्री अवधेश कौशल, डॉ. महेश भंडारी, डॉ. एनएस सचान, इलियास अंसारी प्रमुख रूप से शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:a doon daughter Meghna returned as a Mrs. intarnational