class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नगर निगम क्षेत्र में अवैध होर्डिंग की आयी बाढ़

: मुख्य चौराहों पर लगे अवैध होर्डिंग कर रहे कम्पनी का प्रचार: विज्ञापन नीति से नगर निगम को नहीं हो रही है कोई आयहरिद्वार। हमारे संवाददातानगर निगम को विज्ञापन नीति से किसी प्रकार की कोई आय निगम को नहीं प्राप्त हो रही है। उसके बाद भी नगर निगम क्षेत्र में अवैध होर्डिंग और पोल, क्योस्क की बाढ़ आई हुई है। शहर के लगभग सभी चौराहे होर्डिंग से अटे पड़े हैं। वहीं सड़क डिवाइडर पर लगे बिजली के पोल भी क्योस्क से भरे पड़े हैं।एक तरफ नगर निगम के संविदा कर्मचारियों को करीब आठ माह का वेतन बकाया चल रहा है, वहीं निगम से सेवानिवृत्त हुए बुजुर्ग पेंशनर्स भी अपने बकाया देय और पेंशन के लिए धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। मेयर और नगर आयुक्त भी आएदिन नगर निगम की आय बढ़ाने की बात करते हैं। लेकिन आज तक भी नगर निगम के तीन वर्ष के कार्यकाल की विज्ञापन नीति से नगर निगम के खाते में पैसा भी जमा नहीं हो पाया है। जबकि अर्द्धकुंभ के चार माह में नगर निगम के अधिकारियों ने कुछ धनराशि नगर निगम के खाते में जरूर जमा कराई थी। लेकिन वर्तमान समय में नगर निगम क्षेत्र में अवैध होर्डिंग की तादाद अच्छी खासी हो चुकी है। इन होर्डिंग और पोल क्योस्क से नगर निगम को कोई आय प्राप्त नहीं हो रही है। इसके बाद भी अवैध होर्डिंग और क्योस्क के खिलाफ कार्रवाई न होने से नगर निगम की भूमिका पर भी सवाल उठ रहे हैं।नगर निगम क्षेत्र में लगने वाले होर्डिग, यूनीपोल, पोल क्योस्क के लिए ई-टेंडरिंग के जरिये जल्द ही टेंडर आमंत्रित किये जाएंगे। अवैध होर्डिंग हटाने की कार्रवाई को भी जल्द अंजाम दिया जायेगा। -नरेन्द्र सिंह, नगर आयुक्त, हरिद्वार

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:In the municipal area of illegal billboards floods