class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा विस चुनाव में चेहरा नहीं उतारेगी: विजयवर्गीय

देहरादून। विशेष संवाददाता

भाजपा उत्तराखंड में विधान सभा चुनावों में बगैर चेहरे के मैदान में उतरेगी। जिन प्रदेशों में जरूरत समझी जाएगी, सिर्फ वहीं मुख्यमंत्री के चेहरे घोषित किए जाएंगे।

बुधवार को पार्टी के प्रांतीय मुख्यालय में पत्रकारों के सवालों के जवाब में केंद्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने यह ऐलान किया। यह पूछे जाने पर कि क्या चुनाव में पार्टी चेहरा उतारेगी ? विजयवर्गीय ने कहा कि अभी तक फाइनल यही है कि उत्तराखंड में पार्टी चेहरा नहीं देगी। उन्होंने कहा कि पार्टी आवश्यकता के अनुसार ही फैसला करती है।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने संगठन को मजबूत करने, कार्यक्षमता बढ़ाने के लिए सभी महामंत्रियों को तीन-तीन दिन सभी राज्यों का दौरा करने को कहा है। सभी महामंत्री पोलिंग बूथ से लेकर राज्यस्तर की कमेटियों के साथ बैठक कर संगठन के मजबूती को फीडबैक ले रहे हैं। देहरादून में उन्होंने खुद पोलिंग बूथ, मंडल, जिला व प्रदेश कार्य समिति के अलावा विभिन्न मोर्चो, निकायों के प्रतिनिधियों व विधायकों के साथ बैठक की।

विजयवर्गीय ने दावा किया कि उत्तराखंड में भाजपा की सरकार बनेगी और लगातार भी चलेगी। संगठन के बल पर ही भाजपा गुजरात में पांचवी और मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ में चौथी बार सरकार बनाएगी। लिहाजा, जहां संगठन मजबूत होगा वहां सरकार की आयु भी बढ़ती है। क्या सभी सिटिंग विधायकों का टिकट मिलेगा। विजयवर्गीय ने कहा कि यह कहने का मुझे अधिकार नहीं है।

कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए पूर्व विधायकों के टिकटों पर संशय की स्थिति को साफ करते हुए कहा कि अब वे पार्टी के अच्छे कार्यकर्त्ता बन चुके हैं, जिनको टिकट मिलेगा वे चुनाव लड़ेंगे। सभी को टिकट नहीं मिल पाता। प्रदेश कार्य समिति बैठक में दो पूर्व मुख्यमंत्रियों की नाराजगी वे बोले कि पार्टी में आंतरिक प्रजातंत्र है। भाजपा कार्यकर्त्ता आधारित पार्टी है, पार्टी में सभी की बातों को सुना जाता है।

--------------

कोई बम लेकर नहीं आया

विजयवर्गीय ने कहा कि आमतौर पर जब वे उत्तराखंड आते हैं तो कहा जाता है कि वे कोई बम लेकर आए हैं। उन्होंने साफ किया है कि इस बार वे कोई बम लेकर नहीं आए, सिर्फ संगठन के मजबूती देने आए हैं । काबिलेगौर कि मार्च माह में उत्तराखंड की राजनीति में मचे उथल-पुथल के दौरान विजयवर्गीय लेफ्टीनेंट के भूमिका में थे। मई माह में कांग्रेस सरकार की बहाल के बाद वे तब से पहली बार उत्तराखंड आए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Assembly elections, the BJP will not field face: Vijayavargiya