रविवार, 30 अगस्त, 2015 | 00:26 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
गाजीपुर रोड पर गाड़ियों पर लदे जानवर मिलने से बवाल, लगाया जाम।
सचिन व सहवाग ने बांटी विश्व कप जीतने की खुशी
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:02-04-2012 08:30:37 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

क्रिकेट विश्व कप का खिताब जीतने के पहले वर्षगांठ के मौके पर सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग जैसे खिलाड़ियों ने ट्विटर के माध्यम से जीत की खुशी अपने प्रशंसकों से साझा की।

सचिन, जिनके लिए क्रिकेट विश्व कप जीतना बचपन का सपना था, को विश्वास नहीं हो रहा है कि 28 वर्षों के लम्बे इंतजार के बाद विश्व कप का ताज हासिल करने को 12 महीने गुजर गए हैं। सचिन ने ट्वीट किया, ‘समय बीतता है, लेकिन यादें रह जाती हैं। क्या दिन था वो!!! 02-04-2011।’

गत वर्ष दो अप्रैल को भरत ने फाइनल मुकाबले में श्रीलंका को पराजित कर 28 सालों का सूखा खत्म करते हुए विश्व क्रिकेट का शहंशाह बना। भारतीय टीम ने इस जीत को सचिन तेंदुलकर को समर्पित किया। सचिन जीत की खुशी में अपने आंसू नहीं रोक पाए थे।

भारत के सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने भी इस दिन को याद करते हुए सभी साथी खिलाड़ियों, सपोर्ट स्टाफ और प्रशंसकों को धन्यवाद दिया। उन्होंने ट्वीट किया, ‘विश्वास नहीं हो रहा है कि विश्व चैम्पियन बनने के बाद एक साल गुजर गए। हर किसी ने इस सपने को साकार करने में अहम भूमिका निभाई। सभी प्रशंसकों को धन्यवाद।’

उन्होंने आगे लिखा, ‘सभी साथी खिलाड़ियों को मैं गले से लगाता हूं। भरतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को विशेष धन्यवाद, क्योंकि हमारी जरूरतों के प्रति वह संवेदनशील बनी रही और हर वह चीज उपलब्ध कराई जिसकी हमें जरूरत थी।’ सुरेश रैना ने ट्वीट किया, ‘वह क्या क्षण था। यह मेरे जीवन का सबसे महत्वपूर्ण दिन था।’

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingगावस्कर ने पुजारा की तारीफों के पुल बांधे
अपनी अच्छी तकनीक और शांत चित के कारण चेतेश्वर पुजारा क्रीज पर अपने पांव जमाने में माहिर हैं और पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने भी इस युवा बल्लेबाज की आज जमकर तारीफ की जिन्होंने अपने नाबाद शतक से भारत को संकट से उबारा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब संता के घर आए डाकू...
आधी रात को संता के घर डाकू आए।
संता को जगाकर पूछा: यह बताओ कि सोना कहां है?
संता (गुस्से से): इतना बड़ा घर है कहीं भी सो जाओ। इतनी छोटी बात के लिए मुझे क्यों जगाया!