बुधवार, 22 अक्टूबर, 2014 | 05:35 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
मोर्गन ने दिलाई इंग्लैंड को जीत
मुंबई, एजेंसी First Published:22-12-12 09:16 PMLast Updated:23-12-12 11:49 AM
Image Loading

कप्तान इओइन मोर्गन ने पारी की अंतिम गेंद पर छक्का जड़कर इंग्लैंड को दूसरे ट्वेंटी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में भारत के खिलाफ छह विकेट की जीत दिलाकर दो मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर कर दी।

मोर्गन ने 26 गेंद में पांच चौकों और दो छक्कों की मदद से नाबाद 49 रन बनाए जिससे इंग्लैंड ने 178 रन के लक्ष्य को अंतिम गेंद पर चार विकेट पर 181 रन बनाकर हासिल कर लिया। मोर्गन ने अशोक डिंडा की पारी की अंतिम गेंद पर छक्का जड़कर टीम को लक्ष्य तक पहुंचा जबकि उसे जीत के लिए तीन रन चाहिए थे।

मोर्गन के अलावा सलामी बल्लेबाजों माइकल लंब (50) और एलेक्स हेल्स (42) ने भी उपयोगी पारियां खेली। दोनों ने पहले विकेट के लिए 8.2 ओवर में 80 रन भी जोड़े। मेजबान टीम की ओर से युवराज सिंह ने चार ओवर में 17 रन देकर तीन विकेट चटकाए लेकिन उनके अलावा कोई और गेंदबाज नहीं चल पाया।

भारत ने कप्तान महेंद्र सिंह धौनी (38) और विराट कोहली (38) की उम्दा पारियों की मदद से आठ विकेट पर 177 रन बनाए थे। भारत ने पुणे में पहला टी20 पांच विकेट से जीता था।

लक्ष्य का पीछा करने उतरे इंग्लैंड को लंब और हेल्स ने आक्रामक शुरूआत दिलाई। लंब ने शुरू से ही आक्रामक रवैया अपनाया। उन्होंने डिंडा की पारी की पहली गेंद पर चौके के साथ खाता खोलने के बाद परविंदर अवाना की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का जड़ा।
हेल्स सात रन के निजी स्कोर पर भाग्यशाली रहे जब डिंडा की गेंद पर उनका कैच छूट गया। लंब ने हालांकि अपना शानदार खेल जारी रखा। उन्होंने अवाना के ओवर में दो और चौके जड़ने के बाद रविचंद्रन अश्विन की गेंद को दर्शकों के बीच पहुंचाया।

इससे पहले धौनी ने 18 गेंद में तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से 38 रन की पारी खेलने के अलावा रैना (24 गेंद में नाबाद 35 रन, तीन चौके और एक छक्का) के साथ सिर्फ 4.3 ओवर में छठे विकेट के लिए 60 रन की साझेदारी की जिससे भारत मजबूत स्कोर तक पहुंचने में सफल रहा। विराट कोहली ने भी इससे पहले शीर्ष क्रम में 20 गेंद में 38 रन बनाए। भारत का स्कोर 15 ओवर में चार विकेट पर 111 रन था लेकिन टीम अंतिम पांच ओवर में 66 रन बटोरने में सफल रही। इंग्लैंड की ओर से जेड डर्नबैक ने 37 जबकि ल्यूक राइट ने 38 रन देकर दो-दो विकेट चटकाए।

टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरे भारत ने दूसरे ओवर में ही सलामी बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे (3) का विकेट गंवा दिया जो जेड डर्नबैक की आफ साइड से बाहर जाती गेंद पर कड़ा प्रहार करने की कोशिश में थर्ड मैन पर जो रूट को कैच थमा बैठे। सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर (17) और विराट कोहली ने इसके बाद 57 पांच ओवर में 57 रन जोड़े। गंभीर ने काफी धीमी बल्लेबाजी की लेकिन कोहली ने रंग जमाने में देर नहीं लगाई।
    
कोहली ने डर्नबैक पर लगातार दो चौके जड़ने के बाद ल्यूक राइट का स्वागत चार चौकों के साथ किया। उन्होंने इस दौरान 5.4 ओवर में टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया। कोहली हालांकि जब शानदार लय में दिख रहे तब वह स्टुअर्ट मीकर की गेंद को चूककर पगबाधा आउट हुए। रीप्ले में हालांकि लगा कि गेंद लेग साइड की तरफ जा रही थी। उन्होंने 20 गेंद की अपनी पारी में सात चौके जड़े। पुणे में भारत की जीत के हीरो युवराज सिंह (4) भी इसके बाद राइट की गेंद पर लांग आन पर रूट को आसान कैच दे बैठे।

रोहित शर्मा ने जेम्स ट्रेडवेल पर छक्का जड़ा लेकिन राइट ने गंभीर को टिम ब्रेसनेन के हाथों कैच कराके 11वें ओवर में भारत का स्कोर चार विकेट पर 88 रन कर दिया। गंभीर ने 27 गेंद का सामना करते हुए सिर्फ एक चौका जड़ा। रोहित शर्मा (24) भी इसके बाद ट्रेडवेल की गेंद को स्लाग स्वीप करने की कोशिश में बोल्ड हुए। कप्तान धौनी और रैना ने इसके बाद तबड़तोड़ बल्लेबाजी की। धौनी हालांकि भाग्यशाली रहे जब ट्रेडवेल की गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर स्लिप से चार रन के लिए चली गई जबकि वहां कोई क्षेत्ररक्षक मौजूद नहीं था।

रैना ने 17वें ओवर में मीकर को निशाना बनाया और उनके ओवर में तीन चौके और एक छक्के सहित 20 रन बटोरे जिससे यह पारी का सबसे महंगा ओवर साबित हुआ। धौनी ने भी अगले ओवर में डर्नबैक की गेंद को पहले डीप स्क्वायर लेग के उपर से छह रन के लिए भेजा और फिर अंतिम गेंद पर सीधा छक्का जड़कर ओवर में 18 रन जुटाए। भारतीय कप्तान ने अगले ओवर में ब्रेसनेन की गेंद को लेग साइड पर बाउंड्री के दर्शन कराए लेकिन इसी तेज गेंदबाज की गेंद को पुल करने की कोशिश में समित पटेल को कैच दे बैठे। डर्नबैक ने अंतिम ओवर में रविचंद्रन अश्विन (1) को पवेलियन भेजा जबकि पीयूष चावला (0) पारी की अंतिम गेंद पर रन आउट हुए।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ