शुक्रवार, 27 फरवरी, 2015 | 12:59 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
आर्थिक समीक्षा में कहा गया है कि आने वाले वर्षों में आर्थिक वृद्धि दर 8 से 10 प्रतिशत के बीच संभव है। वर्ष 2014-15 में वृद्धि दर 7.4 प्रतिशत रहने का अनुमान है।गोधरा दंगों के बाद गुजरात के हिम्मतनगर जिले में तीन ब्रितानी लोगों की हत्या के मामले में स्थानीय अदालत ने छह लोगों को बरी किया।देश में विकास का अच्छा माहौल: आर्थिक सर्वे।2014-15 में विकास घरेलू मांग के कारण: आर्थिक सर्वे।बरेली- बीएसएफ के भिटौरा कैंप में स्‍वाइन फ़लू की दहशत, तबियत खराब होने पर जिला अस्‍पताल लाए गए 10 जवान, स्‍वाइन फ़लू के संदेह में कराया जा रहा मेडिकल परीक्षण, जांच को लखनऊ भेजे जा रहे नमूने।अप्रैल-दिसंबर के बीच महंगाई दर घटी: आर्थिक सर्वे।8 फीसदी विकास दर का अनुमान: आर्थिक सर्वे।लोकसभा में आर्थिक सर्वेक्षण पेश
गावस्कर ने कहा, भारत का रवैया सही नहीं
कोलकाता, एजेंसी First Published:08-12-12 09:16 PM
Image Loading

पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने तैयारियों के प्रति लचर रवैया अपनाने के लिए भारतीय क्रिकेटरों की आलोचना की और कहा कि इंग्लैंड के खिलाफ मौजूदा सीरीज में घरेलू टीम के खराब प्रदर्शन का कारण यही है। 

गावस्कर ने कहा कि खेल के सभी प्रारूपों में हम पिछड़ गए। भारतीय खिलाड़ियों को मैच की तैयारियों के प्रति अपने रवैये में बदलाव करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि प्रतिभा के हिसाब से कोई सवाल नहीं उठाया जा सकता लेकिन पिछले एक साल में मैं भारतीय क्रिकेटरों के रवैये से निराश हूं। गावस्कर ने कहा कि मुंबई में शर्मनाक हार के बाद पांच से छह दिन का ब्रेक लेना स्वीकार्य नहीं है। भारतीय टीम को थोड़ी अधिक गंभीरता दिखानी चाहिए।

इस पूर्व भारतीय कप्तान ने उस समय यह कड़ी टिप्पणी की है जब भारत यहां ईडन गार्डन्स में तीसरे क्रिकेट टेस्ट में दूसरी पारी में एक बार फिर लचर बल्लेबाजी करता हुआ शर्मनाक हार की कगार पर है। चौथे दिन स्टंप तक भारत ने दूसरी पारी में नौ विकेट पर 239 रन बनाए हैं और उसकी बढ़त सिर्फ 32 रन की है। गावस्कर ने कहा कि समय आ गया है कि राष्ट्रीय चयनकर्ता कुछ कड़े फैसले करें।

 

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड