बुधवार, 27 मई, 2015 | 09:09 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    रिजिजू बोले, मैं खाता हूं बीफ, मुझे कोई रोक सकता है क्या? जारी है जश्न-ए-मोदी सरकार, आज सूरत में शाह की रैली प्रियंका गांधी आज रायबरेली दौरे पर, सोनिया कल आएंगी  लू और गर्मी से दो दिनों तक नहीं मिलेगी राहत, 1100 मरे केंद्र को केजरीवाल की चुनौती, आदेश खारिज करने के लिए लाए प्रस्ताव दिल्ली विधानसभा: विशेष सत्र में हंगामा, बीजेपी विधायक को बाहर निकाला  यूपी: गर्मी का कहर जारी, राहत के आसार नहीं इस रेस्टोरेंट में आने वालों को बनना पड़ता है कैदी प्रतापगढ़ में रोडवेज के कैशियर की हत्या कर साढ़े सात लाख की लूट  सलमान को दुबई जाने के लिए कोर्ट से मिली अनुमति
ओवैस शाह का विकेट अहम रहा: हरभजन
मुंबई, एजेंसी First Published:12-04-12 05:39 PM
Image Loading

मुंबई इंडियन्स के कप्तान हरभजन सिंह ने इंडियन प्रीमियर लीग में बुधवार को राजस्थान रॉयल्स पर 27 रन की जीत के बाद कहा कि अगर ओवैस शाह कुछ देर और बल्लेबाजी करते तो उनकी टीम मैच हार सकती थी।

शाह ने 42 गेंद में पांच चौकों और पांच छक्कों की मदद से 76 रन की पारी खेली। उन्हें लसिथ मलिंगा ने पारी के 15वें ओवर में बोल्ड किया जबकि टीम का स्कोर तीन विकेट पर 134 रन था और रॉयल्स के पास जीत का मौका था। शाह के आउट होने के बाद रायल्स की टीम अपनी राह से भटक गई।

हरभजन ने मैच के बाद कहा कि मलिंगा पर आप पूरा भरोसा कर सकते हो और विकेट के लिए उसे कभी भी गेंद थमा सकते थे। अगर शाह तीन ओवर और बल्लेबाजी करता तो मैच संभवत: 19वें ओवर में ही खत्म हो जाता। मुंबई इंडियन्स के कप्तान ने कहा कि ओस को लेकर गेंदबाजी में थोड़ी समस्या हो रही थी। हरभजन ने कहा कि ओस से थोड़ी परेशानी हो रही थी लेकिन जब आप 197 रन का स्कोर बनाते हो तो विरोधी टीम को लगातार तेजी से रन बनाने होते हैं।
   
राजस्थान रॉयल्स के कप्तान राहुल द्रविड़ ने कहा कि उनकी टीम के पास मौका था लेकिन इस हार से भी कुछ सकारात्मक पक्ष सामने आए हैं। द्रविड़ ने कहा कि हमने सोचा था कि हमारे पास भी मौका है। हमारे ऊपर थोड़ा दबाव था। युवा खिलाड़ी परेशान भी हो गए थे लेकिन इस मैच से भी हमारे लिए कुछ सकारात्मक पक्ष निकलकर आए हैं।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
Image Loadingधौनी से कप्तानी के गुर सीखे : होल्डर
वेस्टइंडीज की वनडे टीम के युवा कप्तान जैसन होल्डर को लगता है कि चेन्नई सुपरकिंग्स के साथ बिताये गये दिनों में उन्हें किसी और से नहीं बल्कि भारत के सीमित ओवरों की टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी से कप्तानी के गुर सीखने को मिले थे।