शनिवार, 05 सितम्बर, 2015 | 19:47 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ऑस्ट्रेलिया मजबूत स्थिति में
होबार्ट, एजेंसी First Published:15-12-2012 12:45:58 PMLast Updated:15-12-2012 04:17:33 PM
Image Loading

ऑस्ट्रेलियाई टीम शनिवार को यहां पहले क्रिकेट टेस्ट के दूसरे दिन पहली पारी 450 रन पर घोषित कर श्रीलंका के चार विकेट झटककर मजबूत स्थिति में पहुंच गयी।
   
अनुभवी खिलाड़ी माइक हस्सी ने श्रीलंका के खिलाफ छह टेस्ट में पांचवां शतक जड़ा जिसके बाद कप्तान माइकल क्लार्क ने 131 ओवर में पांच विकेट पर 450 रन पर पहली पारी घोषित की। उन्होंने बारिश से बाधित दिन में चाय से 30 मिनट में पारी घोषित की।
   
क्लार्क के इस फैसले को ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने भी सही ठहराया और उन्होंने श्रीलंका के दिमुथ करूणारत्ने, कुमार संगकारा, महेला जयवर्धने और तिलन समरवीरा के विकेट हासिल किये।
   
स्टंप तक श्रीलंका ने चार विकेट पर 87 रन बना लिये थे। तिलकरत्ने दिलशान 50 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद थे जबकि समरवीरा दिन के अंतिम ओवर में आउट हुए। दिलशान ने शेन वाटसन की गेंद पर चौका जड़कर 82 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया।
   
इससे पहले हस्सी ने 115 रन की पारी खेलकर 19वां टेस्ट शतक जड़ा और विकेटकीपर मैथ्यू वेड (68) के साथ 146 रन की भागीदारी की। हस्सी 37 साल में अपनी उम्र से कहीं बेहतर बल्लेबाजी कर रहे हैं, उन्होंने शमिंडा इरांगा की गेंद को पुल कर अपना शतक पूरा किया।
   
एंजेलो मैथ्यूज मिड विकेट बाउंड्री पर कैच लेने की कोशिश में थे, लेकिन इस मौके को चूक गये और गेंद चार रन के लिये बाहर चली गयी जिससे हस्सी ने 100 रन पूरे किये। हस्सी ने यह पारी 184 गेंद में आठ चौके और एक छक्के से बनायी।
   
श्रीलंका के स्थानापन्न खिलाड़ी सूरज रणदीव ने चनाका वेलेगेदारा की गेंद पर मिडविकेट पर वेड का कैच छोड़ दिया जिससे इस ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने दूसरा टेस्ट अर्धशतक पूरा किया।
   
ऑस्ट्रेलिया ने चार विकेट पर 299 रन से आगे खेलना शुरू किया था और दिन के तीसरे ओवर में टीम का एकमात्र विकेट क्लार्क के रूप में गिरा। जो इरांगा की गेंद पर बल्ला छुआकर पहली स्लिप में संगकारा को कैच दे बैठे। उन्होंने 145 गेंद में 74 रन की पारी खेली और इस कैलेंडर वर्ष में अभी तक 102.28 के औसत से 1,432 रन बना लिये हैं जबकि साल के समाप्त होने से पहले अभी तीन टेस्ट पारियों की संभावना है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।