शनिवार, 05 सितम्बर, 2015 | 09:14 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
'कोई भी तेंदुलकर को बाहर नहीं कर सकता'
मुंबई, एजेंसी First Published:23-12-2012 03:57:21 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

कभी सचिन तेंदुलकर के साथ वनडे क्रिकेट की मजबूत सलामी जोड़ी बनाने वाले पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने इस स्टार बल्लेबाज के वनडे से संन्यास लेने के फैसले का स्वागत किया लेकिन उनका मानना है कि मास्टर ब्लास्टर को पाकिस्तान के खिलाफ वनडे सीरीज़ में खेलना चाहिए था।

गांगुली ने कहा कि मुझे लगता है कि उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज़ में खेलना चाहिए था। लेकिन यह उनका फैसला है और यह सही है। इस पर सवाल उठाये जा रहे थे कि उन्हें वनडे क्रिकेट खेलना चाहिए या नहीं। लेकिन मैं उनके फैसले से हैरान नहीं हूं। उन्होंने वही किया जो उन्हें सही लगा।

तेंदुलकर और गांगुली की जोड़ी ने वनडे में 26 शतकीय साझेदारियां निभायी। इनमें से 21 साझेदारियां पहले विकेट के लिये निभायी गयी। ये दोनों ही विश्व रिकॉर्ड हैं। उन्होंने और गांगुली ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 38 शतकीय साझेदारियां निभायी हं जो विश्व रिकॉर्ड है।

गांगुली ने कहा कि राष्ट्रीय चयनकर्ताओं में से कोई भी तेंदुलकर को वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने के लिये नहीं कह सकता था। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि उन पर चयनकर्ताओं की तरफ से किसी तरह का दबाव था। यह उनका खुद का फैसला था। उन्हें कोई बाहर नहीं कर सकता था।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।