शुक्रवार, 28 अगस्त, 2015 | 02:50 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
शीना बोरा के इस्तीफे पर फर्जी साइनः राकेश मारिया।
सचिन-गांगुली ने किया पंकज राय पर किताब का विमोचन
कोलकाता, एजेंसी First Published:03-12-2012 05:53:17 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

सीनियर बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने सोमवार को पूरी भारतीय टीम की उपस्थिति में पूर्व सलामी बल्लेबाज स्वर्गीय पंकज राय पर लिखी गई किताब का विमोचन किया। इस किताब का नाम पंकज, बंगाल्स फोरगोटन हीरो को बंगाली खेल पत्रकार गौतम भट्टाचार्य ने लिखा है। इसे पंकज राय के बेटे प्रणव ने संपादित किया है। प्रणव ने भारत की तरफ से दो टेस्ट मैच खेले तथा वह राष्ट्रीय चयनकर्ता भी रहे।

तेंदुलकर ने इस अवसर पर कहा कि मैं कभी उनसे नहीं मिला लेकिन मैंने क्रिकेट में उनके योगदान के बारे में काफी कहानियां सुनी हैं। उन पर लिखी गई किताब का विमोचन करना सम्मान की बात है। पंकज राय ने भारत की तरफ से 43 टेस्ट मैच खेले तथा पांच शतकों की मदद से 2442 रन बनाए। उन्होंने हालांकि हमेशा वीनू मांकड़ के साथ 1954-55 में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले विकेट की 413 रन रिकार्ड साझेदारी के लिए याद किया जाता है। उन्होंने 1959 में इंग्लैंड के खिलाफ एक टेस्ट मैच में भारत की कप्तानी भी की थी। तेंदुलकर ने किताब के बंगाली संस्करण जबकि गांगुली और वर्तमान कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने अंग्रेजी संस्करण का विमोचन किया।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब पप्पू पहंचा परीक्षा देने...
अध्यापिका: परेशान क्यों हो?
पप्पू ने कोई जवाब नहीं दिया।
अध्यापिका: क्या हुआ, पेन भूल आये हो?
पप्पू फिर चुप।
अध्यापिका : रोल नंबर भूल गए हो?
अध्यापिका फिर से: हुआ क्या है, कुछ तो बताओ क्या भूल गए?
पप्पू गुस्से से: अरे! यहां मैं पर्ची गलत ले आया हूं और आपको पेन-पेंसिल की पड़ी है।