सोमवार, 24 नवम्बर, 2014 | 19:23 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनके पाकिस्तानी समकक्ष नवाज शरीफ के बीच संभावित बैठक के बारे में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि कल तक इंतजार कीजिए।केंद्र के खिलाफ आरोप लगाकर आपराधिक मामलों में आरोपियों की मदद कर रही हैं ममता बनर्जी: केंद्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू।
मुंबई को नहीं मिल रहा सचिन का विकल्प
मुंबई, एजेंसी First Published:18-04-12 06:16 PMLast Updated:18-04-12 06:18 PM
Image Loading

मुंबई इंडियन्स के खिलाड़ी मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर उंगली में चोट के कारण टीम से बाहर क्या हुए टीम की शीर्ष क्रम बल्लेबाजी लड़खडा़ गई। ऐसे में कप्तान हरभजन सिंह के लिए सचिन का विकल्प ढूंढ़ना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है।

कप्तान हरभजन खुद मानते हैं कि शुरुआती ओवरों में रन बटोरना और शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के लिए टिककर एक अच्छा स्कोर बनाना बेहद जरूरी हैं। इससे पहले सोमवार को अपने घरेलू मैदान में दिल्ली डेयरडेविल्स के हाथों सात विकेट से मिली हार के लिए भी कप्तान ने शीर्ष बल्लेबाजों को इसके लिए जिम्मेवार ठहराया था।

भज्जी ने कहा कि हमारे लिए जरूरी है कि हम शुरुआती छह ओवरों में रन बनाए। अगर हम शुरुआत ठीक करेंगे तो हमारे लिए 160-170 का स्कोर बनाना कोई मुश्किल नहीं है। वानखेड़े स्टेडियम की पिच पर अगर आप अच्छी शुरुआत करेंगे तो आप अच्छा स्कोर बना सकते हैं, लेकिन पिछले मैच में हम अपने घरेलू मैदान पर ही अच्छे रन नहीं बना सके थे इसलिए इस बार हमें शीर्ष क्रम में किसी अच्छे विकल्प की जरूरत है।

मुंबई इंडियन्स को अपने आगामी मुकाबले में एक बार फिर अपने घरेलू मैदान पर 22 अप्रैल को किंग्स इलेवन पंजाब का सामना करना होगा। ऐसे में शीर्ष क्रम में सधे हुए बल्लेबाजों को उतारना टीम के लिए महत्वपूर्ण होगा। सचिन की अनुपस्थिति में दिल्ली के खिलाफ अंबाती रायुडू, टी सुमन, रिचर्ड लेवी और डेवी जैकब को शीर्ष क्रम में बल्लेबाजी का मौका दिया जा चुका है लेकिन कोई भी खिलाड़ी एक बड़ी साझेदारी नहीं निभा पाया।
 
दिल्ली के साथ आखिरी मैच में तो मुंबई की टीम महज 92 के मामूली स्कोर पर ही ताश के पत्तों की तरह ढह गई थी। इस मैच में दोनों ओपनिंग बल्लेबाज लेवी और जैकब एक और शून्य के स्कोर पर पवेलियन लौट गए थे।

हरभजन ने कहा कि कुछ समय से लेवी ऑफ स्पिनरों के सामने अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में हम उनकी जगह कुछ अन्य विकल्पों के बारे में विचार कर रहे हैं। अपने अगले मुकाबले में हम अंतिम एकादश में बेहतरीन खिलाड़ियों के साथ मैदान पर उतरने का प्रयास करेंगे।

सचिन की बाट जोह रहे हरभजन ने सचिन की टीम में वापसी के बारे मे पूछे जाने पर कहा कि मुझे यकीन है कि सचिन की टीम में वापसी से स्थिति में काफी बदलाव आएगा। अगर सब ठीक रहा तो सचिन के अगले मुकाबले में खेलने की उम्मीद हैं। मुझे यकीन है कि सचिन अगर किसी विदेशी खिलाड़ी के साथ ओपनिंग करेंगे तो एक बड़ा स्कोर हासिल किया जा सकता है।

 
 
 
टिप्पणियाँ