शुक्रवार, 24 अक्टूबर, 2014 | 23:36 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    नरेंद्र मोदी की चाय पार्टी में नहीं शामिल होंगे उद्धव ठाकरे भूपेंद्र सिंह हुड्डा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें  कालेधन पर राम जेठमलानी ने बढ़ाई सरकार की मुश्किलें जमशेदपुर से लश्कर का आतंकवादी गिरफ्तार  कोई गैर गांधी भी बन सकता है कांग्रेस अध्यक्ष: चिदंबरम भाजपा के साथ सरकार के लिए उद्धव बहुत उत्सुक: अठावले रांची : एंथ्रेक्स ने ली सात लोगों की जान, 8 गंभीर हालत में भर्ती भारत-पाक तनाव के लिये भारत जिम्मेदार : बिलावल भुट्टो अमेरिकी विदेश विभाग में पहली बार मनी दीवाली एनआईए प्रमुख ने बर्दवान विस्फोट की जांच का जायजा लिया
दो साल में 40 का औसत नहीं छू पाये तेंदुलकर
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:27-11-12 03:07 PMLast Updated:27-11-12 03:09 PM
Image Loading

सचिन तेंदुलकर का टेस्ट क्रिकेट में औसत भले ही 54-60 रन प्रति पारी हो लेकिन यह स्टार बल्लेबाज पिछले दो साल में किसी भी समय 40 के औसत तक नहीं पहुंच पाया।

तेंदुलकर ने नवंबर 2010 में न्यूजीलैंड के खिलाफ अहमदाबाद में खेले गये टेस्ट मैच से लेकर इंग्लैंड के खिलाफ मुंबई टेस्ट मैच तक 21 मैच की 37 पारियां खेली हैं जिनमें उन्होंने 37.71 की औसत से 1322 रन बनाये हैं जिसमें दो शतक और सात अर्धशतक शामिल हैं।

यदि न्यूजीलैंड वाले मैच से शुरुआत की जाए तो तेंदुलकर का औसत किसी भी मैच 40 तक नहीं पहुंचा जबकि उन्होंने अपने करियर में 192 मैच में 54.60 की औसत से 15562 रन बनाये हैं। पिछले दो वर्षों में तेंदुलकर ने जितने रन बनाये हैं उनमें उनका सर्वाधिक औसत 39.28 रहा है।

इससे इस 39 वर्षीय बल्लेबाज के ओवरऑल औसत पर भी बुरा प्रभाव पड़ा जिसमें इस बीच दो से भी अधिक की गिरावट आयी। न्यूजीलैंड के खिलाफ अहमदाबाद मैच से पहले तेंदुलकर का कुल औसत 56-71 रन प्रति पारी था।

तेंदुलकर अपनी पिछली 28 पारियों में शतक नहीं जमा पाये हैं। उन्होंने अपना आखिरी शतक दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जनवरी 2011 में केपटाउन में लगाया था। इसके बाद उन्होंने जो 15 टेस्ट मैच खेले उसकी 27 पारियों में वह 32.22 की औसत से 870 रन ही बना पाये हैं जिसमें छह अर्धशतक शामिल हैं। जब उन्होंने अपना आखिरी शतक लगाया था तब उनका ओवरऑल औसत 56-94 रन प्रति पारी पहुंच गया था।

तेंदुलकर ने पिछली दस पारियों में केवल 15.30 की औसत से 153 रन बनाये हैं और उनका उच्चतम स्कोर 27 रन है। लेकिन उनके औसत में गिरावट पिछले साल इंग्लैंड दौरे से शुरू हो गयी थी। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में खेले गये तीसरे टेस्ट मैच से उनका औसत 56 से नीचे आ गया था जबकि इंग्लैंड के खिलाफ अहमदाबाद में जारी सीरीज में खेले गये पहले टेस्ट मैच से उनका औसत 55 से भी नीचे गिर गया।

यदि उनका लचर फॉर्म जारी रहती है तो उनका औसत 54 से भी नीचे गिर सकता है। पिछले 14 साल में तेंदुलकर का टेस्ट औसत कभी 54 रन प्रति पारी से नीचे नहीं आया। इससे पहले उनका न्यूनतम औसत पाकिस्तान के खिलाफ कोलकाता में फरवरी 1999 में खेले गये मैच में 53.19 था।

टेस्ट क्रिकेट में तेंदुलकर के बाद सर्वाधिक रन बनाने वाला एक अन्य बल्लेबाज रिकी पोंटिंग भी इस समय बेहद बुरे दौर से गुजर रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान ने पिछली नौ पारियों में 18.44 की औसत से 166 रन बनाये हैं।

पोंटिंग के औसत में पिछले सात साल में बहुत गिरावट देखने को मिली है। 2006 में एक समय उनका औसत लगभग 60 पर पहुंच गया था जो अब गिरकर 52.21 हो गया है। पोंटिंग ने अब तक 13366 रन बनाये हैं।
 
 
 
टिप्पणियाँ