रविवार, 30 अगस्त, 2015 | 15:22 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
दो पिछड़े का बेटा एक हो गया तो बोलते हैं कि जंगलराज आ गया: लालू यादवलालू ने नीतीश कुमार को लोकप्रिय मुख्यमंत्री कहाअरुण कुमार ने नीतीश को छाती तोड़ने की धमकी दी थी, हमने अरुण कुमार से कह दिया, ये ये 1990 के पहले का बिहार नहीं है : लालूअनंत सिंह को जेल भेजकर नीतीश कुमार ने बहादुरी का का किया: लालूपीएम मोदी रैलियों में हमको गाली दे कर गए: लालू प्रसाद यादव
'व्हीलचेयर पर बिताया समय जिंदगी का सबसे खराब दौर'
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:04-01-2013 04:31:15 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

करियर के लिये खतरा बनी दो चोटों से उबरने के बाद तेज गेंदबाज एस श्रीसंत ने कहा कि प्रथम श्रेणी क्रिकेट में वापसी से पहले व्हीलचेयर पर बिताया समय उनकी जिंदगी का सबसे खराब दौर था।
     
श्रीसंत ने 14 महीने बाद वापसी करते हुए हाल ही में केरल के लिये रणजी क्रिकेट खेला। उन्होंने कोच्चि से कहा कि कौन कहता है कि लड़के रोते नहीं। मैं जब उंगलियों के आपरेशन के कारण दो महीने व्हीलचेयर पर था तब बच्चों की तरह रोता था।
     
उन्होंने कहा कि मुझे लगने लगा था कि मैं कभी क्रिकेट फिर नहीं खेल पाउंगा। मुझे बहुत डर लगता था। वो 14 महीने मेरे करियर का सबसे अंधकारमय दौर था।
      
श्रीसंत ने कहा कि दो महीने व्हीलचेयर पर बिताने के बाद अगले तीन महीने मैं बैसाखियों के सहारे चलता रहा। बीसीसीआई, केरल क्रिकेट संघ और एनसीए ने मेरा बहुत साथ दिया। जिस समय मैने कहा कि मैं पूरी तरह फिट हूं, केरल क्रिकेट संघ ने मुझे तुरंत टीम में जगह दी।
      
वह यहां पालम मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ रविवार को भारत ए के लिये खेलेंगे। उन्होंने कहा कि मेरे लिये यह नई शुरूआत है। मैं अब खेल का पूरा मजा लेना चाहता हूं। केरल के लिये खेलूं, भारत ए या फिर भारत के लिये । मैं तनिक भी आराम नहीं करना चाहता।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingLIVE: श्रीलंका को 8वां झटका, कुशल आउट
भारतीय क्रिकेट टीम ने अपने तेज गेंदबाजों के दाम पर सिंहलीज स्पोट्स क्लब मैदान पर जारी तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन रविवार को 156 रनों के कुल योग पर श्रीलंका के 8 विकेट झटक लिए हैं।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब संता के घर आए डाकू...
आधी रात को संता के घर डाकू आए।
संता को जगाकर पूछा: यह बताओ कि सोना कहां है?
संता (गुस्से से): इतना बड़ा घर है कहीं भी सो जाओ। इतनी छोटी बात के लिए मुझे क्यों जगाया!