मंगलवार, 30 जून, 2015 | 22:18 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    'मेंढक' को है आपकी दुआओं की जरूरत, कोमा में है आपका चहेता किरदार सुनंदा पुष्कर केस में शशि थरूर का लाइ डिटेक्टर टेस्ट कराने की तैयारी में जुटी पुलिस शर्मनाक: सीरिया में आईएस ने दो महिलाओं का सिर कलम किया उपचुनाव में रिकॉर्ड डेढ लाख वोटों के अंतर से जीतीं जयलिलता, सभी विरोधी उम्मीदवारों की जमानत जब्त धौलपुर महल विवाद: कांग्रेस ने राजे के खिलाफ नए सबूत पेश किए, भाजपा बोली, छवि बिगाड़ने की साजिश ट्विटर पर जॉन ने खोली 'वेलकम बैक' की रिलीज़ डेट, आप भी जानिए बांग्लादेश में उड़ा टीम इंडिया का मजाक, इन क्रिकेटरों को दिखाया आधा गंजा गांगुली ने टीम इंडिया में हरभजन की वापसी का किया स्वागत रोहित समय के पाबंद हैं, उनके साथ काम करना मुश्किल: शाहरूख खान तेंदुलकर ने अजिंक्य रहाणे को दीं शुभकामनाएं
सचिन के राज्यसभा नामांकन के खिलाफ याचिका खारिज
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:19-12-12 05:26 PM
Image Loading

दिल्ली उच्च न्यायालय ने क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के राज्यसभा नामांकन के खिलाफ जनहित याचिका आज खारिज कर दी। मुख्य न्यायाधीश डी मुरूगेसन और न्यायमूर्ति राजीव सहाय एंडला की खंडपीठ ने कहा कि याचिका खारिज कर दी गई है।

इससे पहले केंद्र की ओर से पैरवी कर रहे अतिरिक्त सोलिसिटर जनरल राजीव मेहरा ने कहा कि तेंदुलकर का राज्यसभा के लिये नामांकन संविधान के प्रावधान के तहत है जिसमें खेल जगत के धुरंधर को उच्च सदन का सदस्य मनोनीत किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि संविधान की धारा 80 के तहत विज्ञान, कला, साहित्य और समाजसेवा ही नहीं बल्कि खेल, शिक्षा और अन्य क्षेत्रों के विशेषज्ञों को भी मनोनीत किया जा सकता है। अदालत ने 21 नवंबर को दिल्ली के पूर्व विधायक रामगोपाल सिंह सिसोदिया की जनहित याचिका पर फैसला सुरक्षित कर लिया था। सिसोदिया ने सचिन के नामांकन को यह कहकर चुनौती दी थी कि संविधान की धारा 80 के लिए वह राज्यसभा नामांकन की अहर्ताओं पर खरे नहीं उतरते।
 

 
 
 
अन्य खबरें
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड