गुरुवार, 30 अक्टूबर, 2014 | 19:13 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
प्रख्यात साहित्यकार रॉबिन शॉ पुष्प नहीं रहेन्यायालय ने गुमशुदा बच्चों के मामलों में प्राथमिकी दर्ज नहीं करने पर बिहार और छत्तीसगढ़ सरकारों को आड़े हाथ लिया।सरकार 1984 के सिख विरोधी दंगों में मारे गए 3,325 लोगों में से प्रत्येक के नजदीकी परिजन को पांच़-पांच लाख देगीमहाराष्ट्र की नई सरकार में शिवसेना के किसी नेता को शामिल नहीं किया जाएगा: राजीव प्रताप रूडी
सचिन के राज्यसभा नामांकन के खिलाफ याचिका खारिज
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:19-12-12 05:26 PM
Image Loading

दिल्ली उच्च न्यायालय ने क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के राज्यसभा नामांकन के खिलाफ जनहित याचिका आज खारिज कर दी। मुख्य न्यायाधीश डी मुरूगेसन और न्यायमूर्ति राजीव सहाय एंडला की खंडपीठ ने कहा कि याचिका खारिज कर दी गई है।

इससे पहले केंद्र की ओर से पैरवी कर रहे अतिरिक्त सोलिसिटर जनरल राजीव मेहरा ने कहा कि तेंदुलकर का राज्यसभा के लिये नामांकन संविधान के प्रावधान के तहत है जिसमें खेल जगत के धुरंधर को उच्च सदन का सदस्य मनोनीत किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि संविधान की धारा 80 के तहत विज्ञान, कला, साहित्य और समाजसेवा ही नहीं बल्कि खेल, शिक्षा और अन्य क्षेत्रों के विशेषज्ञों को भी मनोनीत किया जा सकता है। अदालत ने 21 नवंबर को दिल्ली के पूर्व विधायक रामगोपाल सिंह सिसोदिया की जनहित याचिका पर फैसला सुरक्षित कर लिया था। सिसोदिया ने सचिन के नामांकन को यह कहकर चुनौती दी थी कि संविधान की धारा 80 के लिए वह राज्यसभा नामांकन की अहर्ताओं पर खरे नहीं उतरते।
 

 
 
 
टिप्पणियाँ