शुक्रवार, 24 अक्टूबर, 2014 | 15:53 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
कांग्रेस में बदल सकता है पार्टी अध्‍यक्षचिदंबरम ने कहा, नेतृत्‍व में बदलाव की जरूरत हैदेहरादून शहर के आदर्श नगर में एक ही परिवार के चार लोगों की हत्यागर्भवती महिला समेत तीन लोगों की हत्याहत्याकांड के कारणों का अभी खुलासा नहींपुलिस ने पहली नजर में रंजिश का मामला बताया
जमशेद ने दिलाई पाकिस्तान को जीत
चेन्नई, एजेंसी First Published:30-12-12 10:32 AMLast Updated:30-12-12 06:40 PM
Image Loading

जुनैद खान की तूफानी गेंदबाजी के बाद नासिर जमशेद के नाबाद शतक की मदद से पाकिस्तान ने पहले वनडे में रविवार को भारत को छह विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली।

सलामी बल्लेबाज जमशेद ने 132 गेंद में पांच चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 101 रन की पारी खेलने के अलावा यूनिस खान (58) के साथ दूसरे विकेट के लिए सिर्फ 121 गेंद पर 112 रन की साझेदारी की जिससे पाकिस्तान ने 228 रन के लक्ष्य को 48.1 ओवर में चार विकेट गंवाकर हासिल कर लिया। जमशेद ने शोएब मलिक (35 गेंद में नाबाद 34) के साथ भी पांचवें विकेट के लिए 56 रन की अटूट साझेदारी की।

इससे पहले भारत ने शीर्ष क्रम के ध्वस्त होने के बाद कप्तान महेंद्र सिंह धौनी (125 गेंद में नाबाद 113 रन) के नाबाद शतक की मदद से छह विकेट पर 227 रन का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया। पाकिस्तान की ओर से जुनैद ने नौ ओवर में 43 रन देकर चार विकेट चटकाए।

लक्ष्य का पीछा करने उतरे पाकिस्तान की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही। टी20 में जानदार पदार्पण करने वाले भुवनेश्वर कुमार ने अपने पहले वनडे को भी यादगार बनाते हुए इनस्विंग होती अपनी पहली गेंद पर ही मोहम्मद हफीज (0) को बोल्ड कर दिया जिन्होंने गेंद को खेलने को कोई रुचि नहीं दिखाई। वह सदगोपन रमेश के बाद दूसरे भारतीय गेंदबाज हैं जिन्होंने वनडे में अपनी पहली गेंद पर विकेट चटकाया।

अंपायर बिली बोडेन ने अगली गेंद पर अजहर अली (9) के खिलाफ भुवनेश्वर की पगबाधा की विश्वसनीय अपील ठुकरा दी और गेंद चार रन के लिए गई। पहले 10 ओवर में सिर्फ यही गेंद बाउंड्री तक पहुंची।

इससे पहले तेज गेंदबाज जुनैद खान ने कप्तान मिसबाह उल हक के पहले गेंदबाजी करने के फैसले को सही साबित किया। उन्होंने भारत के शीर्ष क्रम को नेस्तनाबूद करते हुए चार विकेट चटकाए जिससे मेजबान टीम ने 10वें ओवर तक 29 रन पर पांच विकेट गंवा दिए लेकिन धौनी ने 125 गेंद में नाबाद 113 रन बनाकर टीम को संभाल लिया। उन्होंने 125 गेंद की अपनी पारी में सात चौके और तीन छक्के मारे।


खराब फार्म के कारण आलोचनाओं का सामना कर रहे धौनी ने इस दौरान वनडे क्रिकेट में सात हजार रन भी पूरे किए। उन्होंने सुरेश रैना (43) के साथ छठे विकेट के लिए 73 जबकि रविचंद्रन अश्विन (नाबाद 31) के साथ सातवें विकेट के 16.5 ओवर में 125 रन की अटूट साझेदारी की।

भारत की शुरुआत किसी बुरे सपने की तरह रही। जुनैद खान ने सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग को अपना पहला शिकार बनाया। दिल्ली का यह आक्रामक बल्लेबाज 11 गेंद में सिर्फ चार रन बनाया। वह जुनैद की इनस्विंगर को समझने में नाकाम रहे और बोल्ड हो गए। जुनैद ने इसके बाद अपना जादू चलाते हुए विराट कोहली (0), युवराज सिंह (2) और रोहित शर्मा (4) को भी पवेलिन ही राह दिखाई। मोहम्मद इरफान और उमर गुल ने अपने साथी तेज गेंदबाज जुनैद का अच्छा साथ निभाया। इरफान ने गौतम गंभीर (8) को बोल्ड किया।

रात हुई बारिश के कारण हालात बल्लेबाजी के लिए काफी अच्छे नहीं थे जिसका मेहमान टीम के गेंदबाजों ने पूरा फायदा उठाया। जुनैद ने युवराज और कोहली को भी बोल्ड किया। रोहित ने एक बार फिर निराश किया और 14 गेंद खेलने के बाद जुनैद की गेंद पर तीसरी स्लिप में मोहम्मद हफीज को कैच थमा बैठे। उन्होंने अपनी पिछली छह पारियों में 4, 4, 4, 0, 0 और 5 रन बनाए हैं।

भारत का स्कोर 10 ओवर में पांच विकेट पर सिर्फ 29 रन था। इस दौरान सिर्फ तीन चौके लगे। धौनी और रैना ने इसके बाद पारी को संवारा। दोनों ने पाकिस्तानी गेंदबाजों को 23 ओवर तक विकेट से महरूम रखा। धौनी को 26वें ओवर में 16 रन के निजी स्कोर पर जीवनदान मिला जब विरोधी कप्तान मिसबाह ने हफीज की गेंद पर मिडविकेट पर उनका कैच छोड़ दिया। भारतीय कप्तान को इस पारी के दौरान पानी की कमी और मांसपेशियों में खिंचाव की समस्या से भी जूझना पड़ा।

रैना की धैर्यपूर्ण पारी का अंत हफीज ने उनका लेग स्टंप उखाड़कर किया। उन्होंने 88 गेंद का सामना करते हुए दो चौके मारे। धौनी पर हालांकि इसका कोई असर नहीं पड़ा। उन्होंने गुल की गेंद को मिड विकेट के ऊपर से चार रन के लिए भेजकर अपना अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने इसके बाद दिग्गज स्पिनर सईद अजमल की गेंद को दर्शकों के बीच पहुंचाया। धौनी ने 49वें ओवर में इरफान की गेंद को कवर क्षेत्र में छह रन के लिए भेजकर अपना शतक पूरा किया। भारत ने इस ओवर में 21 रन जुटाए।

पाकिस्तान की ओर से जुनैद सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने नौ ओवर में 43 रन देकर चार विकेट चटकाए। यह पहला मैच है जो आईसीसी के नए नियमों के तहत खेला गया। इन नियमों के अनुसार दोनों छोर से एक नई गेंद का इस्तेमाल किया गया, एक ओवर में गेंदबाज को दो बाउंसर फेंकने की स्वीकृति थी, बल्लेबाजी पावर प्ले नहीं था, गेंदबाजी पावर प्ले को 40वें ओवर से पहले समाप्त करना था और पारी के दौरान किसी भी समय चार से अधिक क्षेत्ररक्षकों को 30 गज के घेरे से बाहर खड़े होने की स्वीकृति नहीं थी।
 
 
 
टिप्पणियाँ