गुरुवार, 30 अक्टूबर, 2014 | 23:04 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    नौकरानी की हत्या: धनंजय को जमानत, जागृति के रिकार्ड मांगे अमर सिंह के समाजवादी पार्टी में प्रवेश पर उठेगा पर्दा योगी आदित्य नाथ ने दी उमा भारती को चुनौती देश में मौजूद कालेधन पर रखें नजर : अरुण जेटली शिक्षा को लेकर मोदी सरकार पर आरएसएस का दबाव कोयला घोटाला: सीबीआई को और जांच की अनुमति सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं
धौनी ने पूरी टीम को दिया जीत का श्रेय
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:06-01-13 10:15 PM
Image Loading

पाकिस्तान के खिलाफ क्लीनस्वीप बचाकर राहत महसूस कर रहे भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने लगातार तीसरे मैच में बल्लेबाजों के फ्लाप शो के बावजूद 10 रन की जीत का श्रेय पूरी टीम को दिया।

भारतीय बल्लेबाज सीरीज में लगातार दूसरी बार विफल रहे जिससे टीम इंडिया पहले बल्लेबाजी करते हुए 43.4 ओवर में सिर्फ 167 रन पर ढेर हो गई लेकिन गेंदबाजों ने टीम को वापसी दिलाते हुए पाकिस्तान को 48.5 ओवर में 157 रन पर समेटकर मेजबान टीम को सीरीज की पहली जीत दिलाई। पाकिस्तान हालांकि सीरीज 2-1 से अपने नाम करने में सफल रहा।

धौनी ने पाकिस्तान पर 10 रन की जीत दर्ज करने के बाद कहा कि कुल मिलाकर यह मैच अच्छा रहा। पहले दो मैचों में हार के कारण इस मैच में जीत से काफी अधिक खुशी होगी। जीत की खुशी हमेशा अच्छी होती है। यह पूरी टीम के प्रयास से मिली लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण रहा कि हम सीरीज पहले ही हार चुके थे।

इस छोटे स्कोर की रक्षा में गेंदबाजों के अलावा भारतीय क्षेत्ररक्षकों की भूमिका काफी अहम रही जिनकी तारीफों के पुल बांधते हुए धौनी ने कहा कि तेज गेंदबाजों ने हमें अच्छी शुरुआत दिलाई। भुवनेश्वर ने दो विकेट लिए जिसके बाद बाकी दो तेज गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया। स्पिनरों ने इसके बाद दबाए बनाए रखा जो लगातार बढ़ता रहा। लेकिन इस मैच में अहम भूमिका क्षेत्ररक्षकों की रही। हमने अपने क्षेत्ररक्षण से 20 से 22 रन बचाए जो कम स्कोर वाले मैच में अहम होते हैं। हमने एक कैच छोड़ा लेकिन ऐसा हो जाता है।

भारत ने खराब फार्म से जूझ रहे सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग की जगह अजिंक्य रहाणे को उतारा लेकिन टीम एक बार फिर अच्छी शुरुआत हासिल करने में विफल रही। धौनी ने हालांकि बल्लेबाजों का बचाव किया।

 
 
 
टिप्पणियाँ